संजीवनी टुडे

सऊदी अरब में तेल कंपनी पर हमले के बाद कच्चा तेल 10 फीसदी उछला, रिजर्व तेल के इस्तेमाल को ट्रंप ने दी मंजूरी

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 16-09-2019 22:21:58

एक समय इसकी कीमत 19.5 फीसदी उछलकर 72 डॉलर प्रति बैरल के करीब पहुँच गयी, हालाँकि बाद में यह करीब 10 प्रतिशत बढ़त के साथ 67 डॉलर प्रति बैरल के आसपास रही।


लंदन। सऊदी अरब की सरकारी तेल कंपनी सऊदी अरामको के कच्चे तेल के दो संयंत्रों पर हुये हमले के बाद अंतराष्ट्रीय बाजार में सोमवार को बीच कारोबार में एक समय इसकी कीमत 19.5 फीसदी उछलकर 72 डॉलर प्रति बैरल के करीब पहुँच गयी, हालाँकि बाद में यह करीब 10 प्रतिशत बढ़त के साथ 67 डॉलर प्रति बैरल के आसपास रही।

यह खबर भी पढ़ें: ​मोदी के जन्मदिन की पूर्व संध्या पर सोने का मुकुट हनुमान को समर्पित

इस हमले के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अब रिजर्व तेल के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है। डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट करके कहा है, ‘’सऊदी अरब की कंपनी अरामको पर हमले के बाद तेल की कीमतों पर प्रभाव पड़ सकता है. मैंने बाजारों को अच्छी आपूर्ति रखने के लिए रिजर्व तेल के इस्तेमाल को मंजूरी दी है.’’ उन्होंने आगे कहा, ‘’मैंने सभी उपयुक्त एजेंसियों को टेक्सास और अन्य राज्यों में वर्तमान में तेल पाइपलाइनों के अनुमोदन में तेजी लाने के लिए कहा है.’’

लंदन से प्राप्त जानकारी के अनुसार कच्चा तेल का मानक ब्रेंट क्रूड वायदा में आज सुबह जबरदस्त तेजी देखी गयी। एक समय यह 19.48 प्रतिशत चढ़कर 71.95 डॉलर प्रति बैरेल पर पहुँच गया। यह किसी एक दिन में बीच कारोबार में खाड़ी युद्ध के दौरान 14 जनवरी 1991 के बाद की सबसे बड़ी तेजी है। बाद में कच्चे तेल की तेजी कुछ कम हुई और यह 6.35 डॉलर यानी 9.54 प्रतिशत की बढ़त के साथ 66.57 डॉलर प्रति बैरल पर रहा।

सितंबर का अमेरिकी क्रूड वायदा भी सुबह के समय 15.5 प्रतिशत की छलांग लगाकर 63.34 डॉलर प्रति बैरल हो गया था। यह 22 जून 1998 के बाद की इसकी सबसे बड़ी तेजी है। बाद में यह भी गत कारोबारी दिवस के मुकाबले 5.55 डॉलर यानी 10.12 प्रतिशत मजबूत होकर 60.40 डॉलर प्रति औंस बोला गया। कच्चे तेल में भारी उछाल के कारण भारत में भी पेट्रोल तथा डीजल की कीमतों में तेज उछाल की आशंका है।

पूर्वी सऊदी के खुरैस और अबकैक में शनिवार को सऊदी अरामको के संयंत्रों पर ड्रोन से हमले हुये जिससे वहाँ आग लग गयी थी। प्रारंभिक अनुमान के अनुसार इन हमलों के कारण कच्चे तेल की आपूर्ति 57 लाख बैरल प्रतिदिन बाधित कम हो गयी है जो वैश्विक उत्पादन का पाँच प्रतिशत है। आशंका है कि आपूर्ति पूरी तरह दुबारा बहाल करने में काफी समय लग सकता है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From world

Trending Now
Recommended