संजीवनी टुडे

कोरोना वैक्सीन: देश में टीकाकरण की पहली लहर में 30 करोड़ लोगों को दी जाएगी Vaccine

संजीवनी टुडे 27-11-2020 10:26:58

देश भर में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच भारत में कोरोना वायरस के पहले टीकाकरण में लगभग 30 करोड़ लोगों को COVID-19 वैक्सीन टीका लगेगा।


नई दिल्ली। देश भर में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच भारत में कोरोना वायरस के पहले टीकाकरण में लगभग 30 करोड़ लोगों को COVID-19 वैक्सीन टीका लगेगा। प्रिंसिपल साइंटिफिक एडवाइजर के विजयराघवन ने कहा कि जो लोग टीकाकरण की पहली लहर का हिस्सा होंगे उनमें संकट की घड़ी में अपनी जान की परवाह किए बिना दिन रात लोगों को बचा रहे कोरोना वॉरियर्स को सबसे पहले यह वैक्सीन दी जाएगी। स्वास्थ्य केयर वर्कर, पुलिस कर्मी, और 50 साल से ऊपर के लोग शामिल होंगे। वह गुरुवार को विज्ञान मंत्रालय और भारतीय उद्योग परिसंघ द्वारा आयोजित बैठक में बोल रहे थे। 

covid19

सूत्रों के मुताबिक विजयराघवन ने कहा कि डॉ. वी.के. पॉल की अगुवाई वाली नेशनल वैक्सीन कमेटी ने इसके लिए एक व्यापक खाका को अंतिम रूप दिया है। उन्होंने कहा कि मार्च से मई तक टीके बड़ी संख्या में उपलब्ध होने की संभावना है और राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम का उपयोग करके इन वर्षों में लागू किया जाएगा। विजयराघवन ने कहा "राज्य और केंद्रीय पुलिस, सशस्त्र बल, होम गार्ड, 2 करोड़ सिविल डिफेन्स और एक करोड़ स्वास्थ्य कार्यकर्ता हैं। 

उन्होंने कहा कि इसमें 50 वर्ष से अधिक आयु के लोग शामिल हैं क्योंकि भारत में हृदय रोग और मधुमेह से पीड़ित लोगों का एक बड़ा हिस्सा है जो कि लगभग 26 करोड़ है। 

पीएम मोदी ने मंगलवार को राज्य सरकारों से कहा कि वे स्टीयरिंग कमेटी और ब्लॉक-वार टास्क फोर्स का गठन करें, जो COVID-19 वैक्सीन और डिस्बर्सल के वितरण की तैयारी करें। 

covid19

जानकारी के अनुसार केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा है कि एक COVID-19 वैक्सीन 2021 की पहली तिमाही तक उपलब्ध होने की संभावना है और केंद्र को अगले साल जुलाई तक लगभग 25 करोड़ लोगों को कवर करने वाली 40-50 करोड़ खुराक प्राप्त करने और उपयोग करने का अनुमान है। भरता में पांच संभावित टीके भारत में क्लिनिकल परीक्षणों के विभिन्न चरणों में हैं, जिनमें सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राज़ेनेका COVID-19 वैक्सीन का फेज -3 परीक्षण कर रहा है, जबकि स्वदेशी रूप से विकसित भारत बायोटेक और ICMR वैक्सीन पहले ही चरण III क्लीनिकल परीक्षण शुरू कर चुके हैं। 

covid19

Zydus Cadila द्वारा स्वदेशी रूप से विकसित वैक्सीन ने देश में चरण -2 नैदानिक परीक्षण पूरा कर लिया था और डॉ. रेड्डी की प्रयोगशालाएँ भारत में रूसी स्पुतनिक वी वैक्सीन के संयुक्त चरण 2 और 3 नैदानिक परीक्षणों की शुरुआत करेंगी। 

यह खबर भी पढ़े: पीएम मोदी और CM योगी को मिली जान से मारने की धमकी! अब दिल्ली पुलिस उतार रही खुमारी

यह खबर भी पढ़े: भीषण हादसा: राजकोट के शिवानंद कोविड अस्पताल के ICU वार्ड में लगी आग, 5 मरीजों की मौत

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended