संजीवनी टुडे

उप्र में कोरोना रिकवरी दर 85% के पार, CM योगी बुधवार को करेंगे एल-2 स्तर के 7 अस्पतालों का उद्घाटन

संजीवनी टुडे 29-09-2020 18:33:46

प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 4,069 नए मामले सामने आए। इसी दौरान 5,711 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किए गए।


लखनऊ। प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 4,069 नए मामले सामने आए। इसी दौरान 5,711 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किए गए। राज्य में नए मामलों की तुलना में स्वस्थ होने वालों की संख्या अब लगातार अधिक बनी हुई है।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने मंगलवार को बताया कि इस समय कोरोना के 52,160 सक्रिय मामले हैं। सक्रिय मामलों में गिरावट का सिलसिला जारी है। रविवार को 55,603 सक्रिय मामले थे। इस तरह महज तीन दिनों में 3,443 मामले कम हो चुके हैं। इसके साथ ही अब तक कुल 3,36,981 लोग इलाज के बाद पूरी तरह ठीक होने के बाद घर भेजे जा चुके हैं। राज्य में संक्रमण के बाद कुल मौतों की संख्या 5,715 पहुंच गई है। इनमें बीते 24 घंटे में 63 लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही राज्य में मरीजों के ठीक होने की दर वर्तमान में और बढ़कर अब 85.34 प्रतिशत हो गई है। 

एक दिन में 1.60 लाख कोरोना नमूनों की हुई जांच
उन्होंने बताया कि राज्य की विभिन्न प्रयोगशालाओं में सोमवार  को 1,60,717 कोरोना नमूनों की जांच की गई। अब तक कुल 99,37,675 कोरोना नमूनों की जांच की जा चुकी है।

25,399 मरीजों का होम आइसोलेशन में चल रहा इलाज
उन्होंने बताया कि प्रदेश में वर्तमान में कुल सक्रिय मरीजों में से 25,399 लोग होम आइसोलेशन यानी घर पर रहकर इलाज की सुविधा का लाभ ले रहे हैं। 3,647 लोग निजी अस्पतालों और 108 लोग होटल में एल-1 प्लस की सेमिपेड फैसिलिटी सुविधा के तहत अपना इलाज करा रहे हैं। इनके अलावा शेष राज्य सरकार की एल-1, एल-2 व एल-3 की व्यवस्था के तहत सरकारी अस्पतालों में भर्ती हैं। 

12.64 करोड़ लोगों के बीच पहुंची स्वास्थ्य टीमें
स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगातार विभिन्न क्षेत्रों में लोगों के बीच पहुंचकर सर्वेश्रण कर रही हैं। अभी तक 1,25,065 इलाकों में 3,90,012 टीमों ने 2,54,78,965 करोड़ घरों का सर्वेक्षण किया है। इसके तहत 12,64,06,807 करोड़ से अधिक लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग की गई है।

प्रदेश के हर जनपद में अब हुए एल-2 स्तर के कोविड अस्पताल
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि कोरोना संक्रमण काल में स्वास्थ्य महकमा लगातार व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने में जुटा हुआ है। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री योगी  आ​दित्यनाथ बुधवार को स्वास्थ्य विभाग के 07 नए एल-2 स्तर के कोविड अस्पतालों का उद्घाटन करेंगे। सरकार इस बात के लगातार प्रयास कर रही थी, कि कोई भी जनपद ऐसा न बचे, जहां एल-1, एल-2 स्तर का अस्पताल नहीं हो। अब हम उस स्थिति में पहुंच गए हैं, जहां सभी जनपदों में एल-2 स्तर का भी कोविड अस्पताल है।

संचारी रोग नियंत्रण अभियान 01 अक्टूबर से 
इसके साथ ही 01 अक्टूबर से एक माह का संचारी रोग नियंत्रण अभियान शुरू होने जा रहा है। इसमें जापानी इंसेफेलाइटिस (जेई), एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस), डेंगू, चिकनगुनिया आदि रोगों को लेकर स्वच्छता, जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना के संक्रमण को प्रभावी रूप से नियंत्रित करने के लिए प्रदेश में लोगों को जागरूक करने से साथ जो विशेष सफाई अभियान निरन्तर चलाया जा रहा है, उसका असर कोरोना के साथ अन्य बीमारियों पर भी पड़ा है। जेई, एईएस, डेंगू, मलेरिया, डायरिया सभी के मामलों में कमी आई है।

इस वर्ष पैदा हुए टीकाकरण से छूटे बच्चों की सूची की जाएगी तैयार
अपर मुख्य सचिव ​चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि इसके साथ ही 01 अक्टूबर से 15 अक्टूबर तक चलने वाले दस्तक अभियान में आशा वर्कर और आंगनवाड़ी कार्यकत्रियां घर-घर जाकर इन रोगों के प्रति लोगों को जागरूक तो करेंगी ही, साथ ही वह टीकाकरण से वंचित रह जाने वाले बच्चों की भी पूरी सूची तैयार करेंगी। 

अक्टूबर माह में टीकाकरण से वंचित बच्चों की पूरी जानकारी एकत्र होने के बाद नवम्बर से तीन महीनों का प्रदेशव्यापी अभियान चलाया जाएगा। इसमें इस वर्ष जन्म लेने वाले सभी बच्चों का टीकाकरण सुनिश्चित किया जाएगा। इस तरह नवम्बर से लेकर जनवरी तक सभी छूटे हुए बच्चों का टीकाकरण कर लिया जाएगा। इस दौरान सामान्य टीकाकरण से लेकर जरूरत के मुताबिक बूस्टर डोज दी जाएगी। माताओं को भी टिटनेस का टीका लगाया जाएगा।

यह खबर भी पढ़े: डूंगरपुर उपद्रव : भाजपा ने दो वरिष्ठ अधिकारियों पर लगाया आरोप

यह खबर भी पढ़े: पीएम मोदी के बयान पर सिब्बल का कटाक्ष, पूछा- क्या अकाली दल भी किसानों के खिलाफ ?

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended