संजीवनी टुडे

बिना लक्षण और हल्के लक्षण वाले कोरोना मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं : दिल्ली सरकार

संजीवनी टुडे 06-06-2020 20:30:08

बिना लक्षण और हल्के लक्षण वाले कोरोना मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं


नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामलों के बीच राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने शनिवार को कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के मुताबिक बिना लक्षण और हल्के लक्षण वाले मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं है। दिल्ली के अस्पतालों से लगातार कोरोना मरीजों की तरफ से शिकायतें आ रही हैं कि उनको बेड नहीं दिए जा रहे हैं। इसे लेकर दिल्ली सरकार ने आदेश जारी किया है कि किसी कोरोना हॉस्पिटल में अगर कोई संदिग्ध मरीज भर्ती है तो उसको अलग वार्ड में रखा जाए और कोरोना मरीजों लिए जो आइसोलेशन बेड्स निर्धारित हैं उनको किसी कोरोना संदिग्धों को न दिया जाए। 

दिल्ली सरकार ने कहा कि यह संज्ञान में आया है कि बहुत से बिना लक्षण वाले और हल्के लक्षण वाले मरीज भी अस्पताल में भर्ती किए गए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी दिशा-निर्देशों में यह साफ है कि बिना लक्षण वाले और हल्के लक्षण वाले मरीजों को भर्ती होने की जरूरत नहीं है, उनको होम आइसोलेशन में रखने की सलाह दी गई है। 

दिल्ली सरकार ने कहा कि जिनके घर में जगह नहीं उनको कोविड केयर सेंटर या कोविड हॉस्पिटल सेंटर में भेजा जाए। बिना लक्षण और हल्के लक्षण वाले मरीजों को अस्पताल 24 घंटे के भीतर डिस्चार्ज करें। सभी अस्पतालों को निर्देश दिया जाता है कि वह इन निर्देशों का पालन करें और जो पालन नहीं करेगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सभी अस्पतालों को यह भी निर्देशित किया गया है कि वह रियल टाइम में सूचित करें कि उनके यहां पाजिटिव मरीज एडमिट, डिस्चार्ज और बेड्स की उपलब्धता क्या है? अस्पताल यह भी बताएं कि उनके यहां रोजाना कितने सैंपल टेस्ट के लिए जा रहे हैं और कितनों के नतीजे आ रहे हैं।

यह खबर भी पढ़े: केरल : गर्भवती हाथी की मौत के आरोपित को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended