संजीवनी टुडे

उप्र में कोरोना सक्रिय मामलों में गिरावट दर्ज, रिकवरी दर हुई 82.86 प्रतिशत

संजीवनी टुडे 25-09-2020 18:13:52

इस वजह से सक्रिय मरीजों की संख्या का ग्राफ 68 हजार पहुंचने के बावजूद बीस दिन बाद पहली बार ये 60 हजार से कम हुआ है। राज्य में इस समय 59,397 एक्टिव केस हैं।


लखनऊ। प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों के तेजी से ठीक होने का सिलसिला जारी है। इस वजह से सक्रिय मरीजों की संख्या का ग्राफ 68 हजार पहुंचने के बावजूद बीस दिन बाद पहली बार ये 60 हजार से कम हुआ है। राज्य में इस समय 59,397 एक्टिव केस हैं।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने शुक्रवार को बताया कि राज्य में इससे पहले 05 सितम्बर को सक्रिय मामलों की संख्या 59,963 थी। इसके बाद ये लगातार बढ़ती गई और 13 सितम्बर को 68,122 पहुंच गई थी। 

रिप्रोडक्शन वैल्यू का आंकड़ा 0.91, लापरवाही बरतना पड़ेगा भारी
उन्होंने बताया कि महामारी को लेकर रिप्रोडक्शन वैल्यू महत्वपूर्ण आंकड़ा होता है। वह इस समय एक से कम हो गया है और 0.91 है। इसलिए सक्रिय मामलों की संख्या में गिरावट देखने को मिल रही है। हालांकि ऐसे समय में सतर्कता और भी जरूरी हो जाती है, क्योंकि लोग सोचते हैं कि संक्रमण खत्म होने लगा है, जबकि ऐसा नहीं होता।

उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनसंख्या की तुलना में बहुत कम प्रतिशत लोग कोरोना संक्रमित हुए हैं। जैसे ही लापरवाही होती है,मामले बढ़ने लगते हैं। कुछ अन्य राज्यों में ऐसा देखने को मिला है। वैसे भी महामारी के बारे में हमेशा कहा जाता है कि इसकी दूसरी लहर भी आती है। इसलिए हम इसे सावधानी से ही रोक सकते हैं। 

3.13 लाख मरीज इलाज के बाद हुए स्वस्थ 
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि बीते चौबीस घंटे में संक्रमण के 4,519 नए मामले सामने आए, वहीं इसी दौरान 6,075 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किए गए। अब तक कुल 3,13,686 लोग इलाज के बाद पूरी तरह ठीक होने के बाद घर भेजे जा चुके हैं। राज्य में संक्रमण के बाद कुल मौतों की संख्या 5,450 पहुंच गई है। इनमें बीते चौबीस घंटे में 84 लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही राज्य में मरीजों के ठीक होने की दर वर्तमान में और बढ़कर 82.86 प्रतिशत हो गई है। 20 सितम्बर को यह दर 79.96 प्रतिशत थी। इसके बाद से ही यह लगातार बढ़ रही है। ऐसा मरीजों के तेजी से स्वस्थ होने की बदौलत हुआ है।

एक दिन में 1.64 लाख कोरोना नमूनों की हुई जांच
उन्होंने बताया कि राज्य की विभिन्न प्रयोगशालाओं में गुरुवार को 1,64,742 कोरोना नमूनों की जांच की गई। वहीं अब तक कुल 93,10,258 कोरोना नमूनों की जांच की जा चुकी है।

30,371 मरीजों का होम आइसोलेशन में चल रहा इलाज
उन्होंने बताया कि प्रदेश में वर्तमान में कुल सक्रिय मरीजों में से 30,371 लोग होम आइसोलेशन यानि घर पर रहकर इलाज की सुविधा का लाभ ले रहे हैं। वहीं 3,697 लोग निजी अस्पतालों और 144 लोग होटल में एल-1 प्लस की सेमिपेड फैसिलिटी सुविधा के तहत अपना इलाज करा रहे हैं। इनके अलावा शेष राज्य सरकार की एल-1, एल-2 व एल-3 की व्यवस्था के तहत सरकारी अस्पतालों में भर्ती हैं।

इस वर्ष 01 सितम्बर से 24 सितम्बर तक की गई 12,247 मेजर सर्जरी
उन्होंने बताया कि राज्य में कोविड केयर के साथ नॉन कोविड केयर पर भी पूरी तरह ध्यान दिया जा रहा है। प्रदेश में बीते वर्ष 01 सितम्बर से 24 सितम्बर तक सरकारी अस्पतालों में जहां 16,943 मेजर सर्जरी की गई। वहीं कोरोना संक्रमण काल के बावजूद इस वर्ष इसी समयावधि में 12,247 मेजर सर्जरी की गई।

कोविड हेल्प डेस्क से 7.85 लाख लक्षणात्मक लोगों की हुई पहचान
प्रदेश में कुल 64,507 'कोविड हेल्प डेस्क' की स्थापना की जा चुकी है। इनके जरिए 7,85,986 लक्षणात्मक लोगों की पहचान की गई। इनमें ऑक्सीमीटर और थर्मामीटर उपलब्ध हैं। इन सभी इकाइयों में सैनिटाइजर की पर्याप्त उपलब्धता की गई है।

यह खबर भी पढ़े: बिहार विधानसभा चुनावः तीन चरणों में होगा मतदान, 10 नवम्बर को आएंगे नतीजे

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended