संजीवनी टुडे

सैम पित्रोदा के बयान से फंसी कांग्रेस, देना पड़ रहा जवाब

संजीवनी टुडे 10-05-2019 21:45:46


नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी की विदेश इकाई के प्रमुख सैम पित्रौदा का हाल ही में दिल्ली के सिख दंगों को लेकर दिया गया बयान पार्टी के लिए मुसिबत बनता जा रहा है। पार्टी के प्रवक्ता और नेता दोनों इस बयान पर जवाब दे रहे हैं। उनका बयान ऐसे समय में आया है जब दिल्ली हरियाणा में रविवार को और पंजाब में 19 मई को मतदान होना है।

कांग्रेस पार्टी का कहना है, ‘हम मानते हैं कि 1984 के दंगा पीड़ितों को न्याय मिलना चाहिए। साथ ही 2002 के गुजरात दंगों के पीड़ितों को भी न्याय मिलना चाहिए। पित्रोदा का बयान कांग्रेस पार्टी का बयान नहीं है। हम किसी भी व्यक्ति या समूह के खिलाफ उनकी जाति, रंग, धर्म या क्षेत्र के आधार पर हुई हिंसा की निंदा करते हैं।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

वहीं 1984 के सिख दंगों के संबंध में सैम पित्रोदा के ‘हुआ तो हुआ’ वाले बयान पर पित्रोदा ने माफी भी मांग ली है। उन्होंने कहा उनकी हिंदी अच्छी नहीं है और उनके बयान को गलत ढंग से पेश किया गया है। उनके कहने का मतलब था कि जो भी हुआ है वह बुरा हुआ है। वह अपने दिमाग में बुरा का अनुवाद नहीं कर सके। उन्होंने कहा कि उन्हें दुख है कि उनके बयान गलत ढंग से पेश किया गया। वह अपने बयान पर माफी मांगते हैं।

पार्टी के प्रवक्ता और गुरदासपुर से उम्मीदवार मनीष तिवारी का कहना है कि दिल्ली में 1984 के दंगे मानवता पर धब्बा हैं। सैम पित्रोदा का कथन दुर्भाग्यपूर्ण और खेदजनक है। एक पार्टी के रूप में कांग्रेस और पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह बार -बार दोहरा चुके हैं कि अपराधियों को न्याय के कटघरे में लाया जाना चाहिए।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

दूसरी ओर भाजपा इसको लेकर कांग्रेस पर लगातार निशाना साध रही है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अपने ट्विटर हैंडल पर पित्रोदा के बयान की क्लिप शेयर कर लिखा कि देश हत्यारी कांग्रेस को उसके पापों के लिए माफ नहीं करेगा। वहीं केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि पित्रोदा का बयान हैरान करने वाला है। कोई भी इसकी उम्मीद नहीं कर सकता। वह कहते हैं कि 1984 में नरसंहार हुआ तो क्या हुआ? देश में इस तरह का बयान स्वीकार्य नहीं है।

 

More From national

Trending Now
Recommended