संजीवनी टुडे

राजधर्म का पाठ न पढ़ाएं कांग्रेस: रविशंकर प्रसाद

संजीवनी टुडे 28-02-2020 17:16:03

भाजपा ने कांग्रेस नेतृत्व और गांधी परिवार पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर लोगों में उत्तेजना फैलाने वाले राजधर्म का पाठ न पढ़ाएं।


नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कांग्रेस नेतृत्व और गांधी परिवार पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर लोगों में उत्तेजना फैलाने वाले राजधर्म का पाठ न पढ़ाएं। पार्टी ने कहा कि कांग्रेस ने राजधर्म के नाम पर दिल्ली में लोगों को उकसाया और उत्तेजना फैलाई और अब वह राजधर्म का पाठ पढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं।

भाजपा के वरिष्ठ नेता व केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने शुक्रवार को पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी बीते गुरुवार को राष्ट्रपति भवन गई थी। किंतु, स्वयं उन्होंने, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी ने जिस तरह के बयान दिए, वे किस तरह के थे। उन्होंने कहा कि ये कौन सा राजधर्म है, सोनिया को बताना चाहिए। उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी ने रामलीला मैदान में ‘आर या पार’ की बात कही थी, ये कौन सा राजधर्म था।

रविशंकर ने सोनिया गांधी से सवाल किया कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के विस्थापित हिन्दुओं को उनकी आस्था के आधार पर प्रताड़ित किया जा रहा है, उसको लेकर कांग्रेस का क्या रुख है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने बार-बार खुलकर इस पर स्टैंड लिया था। वरिष्ठ नेता पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह सीएए के समर्थन में थे। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी हिन्दू शरणार्थियों के लिए कई पत्र लिखे, किंतु अब वह सवाल उठा रहे हैं। ये कौन सा राजधर्म है।

उन्होंने कहा कि पूर्व की यूपीए सरकार राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) को लेकर 15 मार्च, 2018 को नोटिफिकेशन जारी किया था और आज उस पर सवाल उठा रही है।

यह खबर भी पढ़ें:​ टाइगर श्रॉफ की 'हीरोपंती 2' का फर्स्ट लुक पोस्टर जारी, अगले साल 16 जुलाई को होगी रिलीज

यह खबर भी पढ़ें:​ पश्चिमी विक्षोभ से प्रदेश के कई जिलों में बदला मौसम, अंधड़, बारिश व ओलावृष्टि की चेतावनी

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में  बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended