संजीवनी टुडे

कांग्रेस सांसद ने केंद्र से की ऑनलाइन गेम रम्मी पर बैन लगाने की मांग

संजीवनी टुडे 29-10-2020 17:39:06

ऑनलाइन गेम्स से पैसे कमाने की लत में फंसे युवाओं में बढ़ रही मानसिक और शारीरिक परेशानियों के मद्देनजर कांग्रेस सांसद मणिकम टैगोर ने केंद्र सरकार से ऑनलाइन गेम रम्मी पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है।


नई दिल्ली। ऑनलाइन गेम्स से पैसे कमाने की लत में फंसे युवाओं में बढ़ रही मानसिक और शारीरिक परेशानियों के मद्देनजर कांग्रेस सांसद मणिकम टैगोर ने केंद्र सरकार से ऑनलाइन गेम रम्मी पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के हस्तक्षेप से जहां युवाओं को बुरी लत से छुटकारा मिलेगा, वहीं उनके परिवार को आर्थिक क्षति नहीं झेलनी पड़ेगी।

तमिलनाडु के विरुधुनगर से कांग्रेस सासंद बी. मणिकम टैगोर ने गुरुवार को दूरसंचार सचिव अंशु प्रकाश से मुलाकात कर ऑनलाइन गेम रम्मी जैसे खेलों पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। उन्होंने बीते दिनों में इस खेल में लाखों रुपये गंवाने के बाद आत्महत्या जैसी घटनाओं में इजाफा होने का हवाला दिया। उन्होंने कहा कि रम्मी एवं अन्य ऑनलाइन गेम्स से पैसा कमाने के चक्कर में अक्सर युवा दिनभर इसमें जुड़े रहते हैं, जिससे उन्हें तमाम शारीरिक और मानसिक परेशानियों से गुजरना पड़ता है। साथ ही वे अपने और परिवार के आर्थिक स्थिति को भी प्रभावित करते हैं।

मुलाकात के दौरान कांग्रेस सांसद ने पुडुचेरी की एक घटना को साझा करते हुए जुए की तरह चलने वाले ऑनलाइन खेल को प्रतिबंधित करने की जरूरत पर बल दिया। उन्होंने बताया कि पुडुचेरी में विजय कुमार नाम के एक शख्स, जिसके दो बच्चे हैं, ने ऑनलाइन रम्मी खेल में 30 लाख रुपये गंवाने के बाद आत्महत्या कर ली। विजय कुमार के एक कदम ने पूरे परिवार को संकट में डाल दिया। यहां परिवार ने पिता को खोने के साथ आर्थिक तौर पर भी चोट खाई। उन्होंने बताया कि खोरद (झारखंड) में भी एक 39 वर्षीय शख्स ने ऑनलाइन रम्मी में 40 लाख रुपये गंवाए।

कांग्रेस नेता ने कहा कि इस प्रकार के ऑनलाइन गेम्स से काफी संख्या में युवा अपना बहुमूल्य समय और धन खर्च कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के किसी वेबसाइट पर जब भी युवा अपने डेबिट या क्रेडिट कार्ड से पैसे ट्रांसफर करते हैं तो फेस साइट्स उसे हैक कर अतिरिक्त पैसे काट लेते हैं, जिसका अंदाजा युवाओं को बाद में होता है। ऐसे में वे अपनी हार और शर्म को छिपाने के लिए बुरे कदम उठाने को मजबूर होते हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व में हम सभी ने देखा कि ‘ब्लूवेल’ नामक गेम कैसे युवाओं को मानसिक तौर पर ग्रस्त कर रहा है। ऐसे में अगर इन खेलों पर अभी प्रतिबंध नहीं लगाया गया तो भविष्य में इसके और भी भयावह परिणाम सामने आ सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि हिंसा से भरे ऑनलाइन गेम्स को खेलने का क्रेज युवाओं में स्पष्ट नजर आता है। इन गेम्स के जरिए पैसा कमाने के चक्कर में युवा काफी पैसे भी खर्च कर रहे हैं। ऐसे में जुए की तरह चलने वाले ऑनलाइन रम्मी व अन्य गेम्स को बैन करने को लेकर हाल ही में मद्रास हाईकोर्ट की मदुरई पीठ ने अहम फैसला सुनाया है। कोर्ट ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारें पैसा लगाने वाले ऑनलाइन गेम्स पर प्रतिबंध लगाने संबंधी कानून पारित कर सकती हैं। इन गेम्स में ऑनलाइन रमी, ताश और अन्य खेल शामिल हैं।

यह खबर भी पढ़े: IPL 2020: आज कोलकाता नाइट राइडर्स से चेन्नई सुपर किंग्स का होगा आमना सामना, जानिए कुछ ऐसी हो सकती हैं दोनों टीमों की संभावित प्लेइंग XI

यह खबर भी पढ़े: काजल अग्रवाल की शादी की रस्में शुरू, हाथों में मेहंदी रचाए अभिनेत्री ने शेयर की तस्वीर

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended