संजीवनी टुडे

अस्तित्व बचाने के लिये एक दूसरे का सहारा ले रही कांग्रेस, माकपा और तृणमूल : भाजपा

संजीवनी टुडे 01-07-2019 19:30:33

भारतीय जनता पार्टी ने राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल तथा विपक्षी माकपा व कांग्रेस के बीच बढ़ती निकटता पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि ये तीनों पार्टियां बंगाल में अपना राजनीतिक अस्तित्व पश्चिम बंगाल विधानसभा में संसदीय कार्य और शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने भाजपा के खिलाफ प्रस्ताव लाने का आह्वान किया।


कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी ने राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल तथा विपक्षी माकपा व कांग्रेस के बीच बढ़ती निकटता पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि ये तीनों पार्टियां बंगाल में अपना राजनीतिक अस्तित्व पश्चिम बंगाल विधानसभा में संसदीय कार्य और शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने भाजपा के खिलाफ प्रस्ताव लाने का आह्वान किया। इसमें माकपा और कांग्रेस ने भी सरकार का साथ देने का भरोसा दिलाया । इसे लेकर भाजपा ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष जयप्रकाश मजूमदार ने कहा है कि अगर विधानसभा में भाजपा के खिलाफ ये तीनों पार्टियां एक होकर प्रस्ताव लाएंगी तो कोई फर्क पड़ने वाला नहीं है लेकिन यह तय है कि आने वाले विधानसभा चुनाव में इन तीनों ही पार्टियों के खिलाफ जनता प्रस्ताव पास‌ करेगी। 

 दरअसल विधानसभा में पार्थ चटर्जी ने कहा था कि विधानसभा की धारा 185 के तहत प्रस्ताव लाकर राज्य में भाजपा की कथित सांप्रदायिकता के खिलाफ चर्चा की जाएगी। माकपा और कांग्रेस ने भी इसमें सरकार को समर्थन  देने का आश्वासन दिया है। इसे लेकर जयप्रकाश मजूमदार और भाजपा विधायक दल के नेता मनोज टिग्गा ने सोमवार अपराह्न प्रदेश भाजपा मुख्यालय में मीडिया से बात की। इस दौरान जयप्रकाश ने कहा कि माकपा और कांग्रेस का अस्तित्व पश्चिम बंगाल से पूरी तरह से खत्म हो गया है और अब तृणमूल कांग्रेस का भी अस्तित्व मिटने वाला है। लोकसभा चुनाव के बाद यह साफ हो चला है कि राज्य की सत्ता पर तृणमूल कांग्रेस अधिक दिनों तक टिकने वाली नहीं है। जनता ने माकपा और कांग्रेस को भी हाशिए पर धकेल दिया है। अब ये तीनों पार्टियां समझ चुकी हैं कि अस्तित्व बचाने के लिए साथ आना चाहिए इसीलिए भाजपा के खिलाफ इनकी एकजुटता दिख रही है। मजूमदार ने कहा कि अब राजनीतिक तौर पर अस्तित्व खो चुकी माकपा, कांग्रेस तथा राज्य की सत्ता से बेदखल होने वाली तृणमूल कांग्रेस एक-दूसरे का हाथ पकड़कर बचने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन जनता इन्हें समझ चुकी है और इनकी कोई भी चाल कारगर होने वाली नहीं है। मजूमदार ने राज्य के वित्त व उद्योग मंत्री अमित मित्रा द्वारा राज्य के प्रस्तावित बजट की एक प्रति भी मीडिया के सामने रखी। इसमें अमित मित्रा द्वारा लिखे गए एक लाइन को दर्शाते हुए उन्होंने ममता सरकार की तीखी आलोचना की जिसमे  केंद्र की भाजपा सरकार को असंवैधानिक, सांप्रदायिक और तानाशाह बताया गया  है। 

जय प्रकाश ने कहा कि आज तक भारत के इतिहास में ऐसा नहीं हुआ कि किसी राज्य की सरकार अपने आधिकारिक दस्तावेज में केंद्र की निर्वाचित सरकार के खिलाफ इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल किया हो। उन्होंने पूछा कि क्या होगा अगर केंद्र सरकार ऐसे दस्तावेज जारी कर पश्चिम बंगाल सरकार को असंवैधानिक, तानाशाह और देशद्रोही करार दे? उन्होंने कहा कि राजनीतिक पार्टियों के बीच मतांतर होते रहते हैं। यही स्वस्थ लोकतंत्र की निशानी है लेकिन जिस ओछे स्तर की राजनीति राज्य की तृणमूल कांग्रेस कर रही है, वह शर्मनाक है। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर राज्य विधानसभा में भाजपा के खिलाफ राज्य सरकार प्रस्ताव लाती है तो पार्टी के विधायक इसके खिलाफ मुखर तरीके से विरोध करेंगे। माकपा और कांग्रेस पर हमला बोलते हुए जयप्रकाश मजूमदार ने कहा कि विधानसभा में जिस तरह से ममता बनर्जी ने कांग्रेस और माकपा को एक साथ आने का आह्वान किया है और तीनों ने गलबहियां शुरू कर दी है उससे स्पष्ट हो चला है कि ये पार्टियां एक साथ मिलकर जनता के खिलाफ काम कर रही हैं। एक तरफ माकपा और कांग्रेस ममता का साथ दे रहे हैं और दूसरी तरफ ममता के खिलाफ लड़ने का ढोंग करते हैं। अब जनता भी इसे बखूबी समझ गई है। इन तीनों पार्टियों का अस्तित्व आने वाले विधानसभा चुनाव में पूरी तरह से खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा कि देशभर में लोगों ने भाजपा को 330 सीटें दी है इस जनादेश का सम्मान करना ममता सरकार को सीखना होगा। हार की हताशा में तृणमूल कांग्रेस भाजपा की असंवैधानिक सफलता स्वीकार नहीं कर पा रही है। 

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From national

Trending Now
Recommended