संजीवनी टुडे

आखिरी दिन भी हड़ताल पर डटे कोयला कर्मी, उत्पादन तथा संप्रेषण बुरी प्रभावित

संजीवनी टुडे 04-07-2020 15:51:40

कॉमर्शियल माइनिंग के विरोध में तीन दिवसीय हड़ताल के तीसरे दिन शनिवार को भी कोयला खदानों में कामगारों की उपस्थिति बहुत कम दर्ज की गई है।


सिंगरौली। कॉमर्शियल माइनिंग के विरोध में तीन दिवसीय हड़ताल के तीसरे दिन शनिवार को भी कोयला खदानों में कामगारों की उपस्थिति बहुत कम दर्ज की गई है। कोयला श्रमिकों की हड़ताल की वजह से एनसीएल में जहां उत्पादन तथा संप्रेषण बुरी तरह से बाधित रहा, वहीं सरकार को भारी आर्थिक क्षति उठाना पड़ी है। 

 उल्लेखनीय है कि कोल इंडिया मे कामर्शियल माइनिंग तथा निजीकरण के विरोध में श्रमिक संगठनों के संयुक्त मोर्चा के तत्वावधान में आयोजित तीन दिवसीय हड़ताल के तीसरे दिन शनिवार को भी कोयला कामगारों द्वारा काम का बहिष्कार किया गया है तथा कोयला कर्मी अपनी मागों को लेकर अड़े हैं। परिणामस्वरूप जहां कोयले की मांग व आपूर्ति पर बुरा असर पड़ा है, तो वहीं कंपनी की भारी आर्थिक क्षति उठानी पड़ी है। यद्यपि कामगारों की उपस्थिति को लेकर प्रबंधन की ओर से शुक्रवार को आधिकारिक तौर पर किसी भी तरह की जानकारी नहीं दी जा इई है। परंतु सूत्रों का कहना है कि एनसीएल की सभी परियोनाओं मे शुक्रवार सुबह की पाली में जहाँ करीब दस से पंद्रह फीसदी ही उपस्थित बताई गई है वहीं दोपहर तथा रात्रि पाली में कामगारों की उपस्थित में इजाफा हुआ है तथा करीब एक चौथाई कर्मचारी काम पर पहुंचे हैं। 

उधर श्रमिक संगठनों के नमांग-पत्र पर चर्चा के दौरान कोयला मंत्री एवं सचिव (कोयला) ने पुनः आश्वस्त किया है कि कोल इंडिया के निजीकरण या कोल इंडिया से सीएमपीडीआइल के विघटन का कोई प्रश्न ही नहीं है। लिहाजा वर्तमान या भविष्य में रोजगार पर कोई नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ेगा। साथ ही कोल इंडिया की भूमिका को मजबूती प्रदान करने के लिए भारत सरकार कोयला ब्लॉको के आवंटन के माध्यम से सीआईएल कीश कोयला संसाधन क्षमता को और बढ़ा रही है। 

कोल इंडिया चेयरमैन प्रमोद अग्रवाल ने हड़ताल पर अड़े श्रमिक संगठनों से अपील करते हुए कहा है कि देश में कोविड की वजह से उत्पन्न परिस्थितियों एवं अंतरराष्ट्रीय परिदृश्यों को देखते हुए कोल इंडिया की भूमिका और भी महत्वपूर्ण हो जाती है। वहीं एनसीएल के सीएमडी पीके सिन्हा ने भी शुक्रवार को हड़ताल पर डटे कर्मचारियों से काम पर लौटने की अपील की है। कोल इंडिया के चेयरमैन तथा एनसीएल सीएमडी ने हड़ताली कामगारोंं से काम पर लौटने की अपील की है। परंतु कामगार कोल इंडिया प्रबंधन की अपील को ठुकराते हुये अपनी मांगों को लेकर अड़े हैं। कुलमिलाकर सरकार की ओर से तमाम आश्वासनों के बावजूद श्रमिक संगठनों के अड़ियल निर्णय के बाद अब आगामी रणनीति क्या होगी, फिलहाल देखना दिलचस्प होगा।

यह खबर भी पढ़े: अजय देवगन की फिल्म 'मैदान' की रिलीज डेट तय, अगले साल 31 अगस्त को होगी रिलीज

यह खबर भी पढ़े: कानपुर में पुलिसकर्मियों की शहादत पर अखिलेश के कार्टून पर भड़के पूर्व DGP बृजलाल, कहा- शर्म करिए

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended