संजीवनी टुडे

नागरिकता संशोधन कानून: राजधानी दिल्ली समेत देश के कई हिस्सों में CAA के खिलाफ प्रदर्शन

संजीवनी टुडे 18-12-2019 10:00:04

नागरिकता संशोधन कानून


नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में मंगलवार को राजधानी दिल्ली समेत देशभर के कई शहरों में आंदोलन हुआ लेकिन यहां सीलमपुर में प्रदर्शन हिंसक हो गया जिसमें भीड़ ने एक पुलिस बूथ को आग के हवाले कर दिया। इस दौरान पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े तथा लाठीचार्ज किया।

यह खबर भी पढ़े: citizenship bill पर विरोधियों को शाह की चुनौती- शरणार्थियों को मिलेगा सम्मान, CAA लागू होकर रहेगा

राजधानी के जामिया नगर, जामा मस्जिद के आस-पास के इलाके, सीलमपुर, जाफराबाद में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ सड़कों पर उतरकर लोगों ने विरोध जताया।सीलमपुर इलाके में आज विरोध के दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच टकराव की स्थिति बन गई। प्रदर्शनकारियों ने आगजनी और पथराव किया हालांकि, शाम होते-होते पुलिस ने हालात पर काबू पा लिया। हालात पर नजर रखने के लिए ड्रोन कैमरे से निगरानी की गई।

पुरानी दिल्ली इलाके के जामा मस्जिद, दरिया गंज, सदर बाजार, तुर्कमान गेट, लाल कुंआ और चांदनी महल के अंदरूनी इलाकों में पूरी तरह सन्नाटा पसरा रहा। इन इलाकों के ज्यादातर बाजार भी पूरी तरह बंद रहे। दोपहर होते-होते लोग सड़कों पर उतर आए और भीड़ बढ़ने लगी तो पुलिस व अर्द्धसैनिक बलों ने करीब सवा दो बजे फ्लैग मार्च निकालना शुरू किया। देर शाम तक पूरी पुरानी दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में प्रदर्शन चलता रहा।

यह खबर भी पढ़े: सोनिया ने सरकार पर फिर हमला बोलते हुए कहा- लोगों की आवाज दबाने में मोदी को हिचक नहीं

प्रदर्शनकारियों ने पूरे जामा मस्जिद इलाके में पैदल ही मार्च निकला। प्रदर्शन कर रहे लोगों के साथ बड़ी संख्या में महिलाएं और लड़कियां भी शामिल हुईं। सभी ने हाथों में बैनर और पोस्टर लिये थे। ज्यादातर पोस्टरों पर लिखा था कि वह दिल्ली पुलिस की कार्रवाई का विरोध करते हैं। हिंदू-मुस्लिम भाई-भाई, सरकार अपने काले कानून को वापस ले।

केरल में सीएए के खिलाफ हुए प्रदर्शन के दौरान हिंसा में 100 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया। राज्य में सीएए के विरोध में सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया, वेलफेयर पार्टी, केरल मुस्लिम यूथ फेडरेशन, बहुजन समाजवादी पार्टी, एसजीओ तथा सॉलिडरिटी ऑर्गनाइजेशन ने संयुक्त रूप से प्रदर्शन का आयोजन किया था। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने वाहनों पर पथराव किया और कई जगहों पर सड़क जाम किया, जिसके कारण यातायात बाधित हुआ।

असम में विरोध प्रदर्शनों का दौर जारी है और गुवाहाटी शहर में कानून-व्यवस्था की स्थिति में और कोई गड़बड़ी नहीं आने के मद्देनजर मंगलवार को यहां से कर्फ्यू हटा लिया गया तथा मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को भी आंशिक तौर पर शुरू कर दिया गया है।

यह खबर भी पढ़े: राहुल गांधी के सावरकर वाले बयान पर अमित शाह बोले- वह चाहे तो भी सावरकर नहीं बन सकते, क्योंकि.......

राज्य में कुल मिलाकर हालात में धीरे-धीरे सुधार हुआ है और पिछले 48 घंटों में हिंसा की कोई ताजा घटना सामने नहीं आई है। इसकी वजह से गुवाहाटी शहर में लगाया गया अनिश्चितकालीन कर्फ्यू सुबह छह बजे हटा लिया गया और डिब्रूगढ़ में इसमें आज 15 घंटों की छूट दी गई थी।

गुजरात में भी नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ आवाज सुनाई दी। वडोदरा स्थित एम एस विश्वविद्यालय के फाइन आर्ट्स संकाय के कम से कम सात छात्रों के खिलाफ पुलिस ने नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में शहर के पुलिस भवन समेत अन्य स्थानों पर संवेदनशील नारे लिखने और चित्र आदि बनाने के चलते मामला दर्ज कर इनमें से पांच को गिरफ्तार किया है। इन छात्रों में से एक केरल, एक गुरुग्राम, एक पुणे और दो इंदौर के रहने वाले हैं।

यह खबर भी पढ़े: मोदी के मंत्री बोले- सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों को देखते ही गोली मार दो

बिहार के पटना जिला प्रशासन ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में हो रहे हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए  कुछ इलाकों में धारा 144 लागू कर दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended