संजीवनी टुडे

चीनी सेना ने अरूणाचल में नहीं किया अतिक्रमण: भारतीय सेना

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 04-09-2019 19:24:11

कि चीन का कोई सैनिक या असैनिक भारतीय सीमा में मौजूद नहीं है।


नई दिल्ली। सेना ने चीन के सैनिकों के अरूणाचल प्रदेश में अतिक्रमण के बारे में मीडिया में आयी रिपोर्ट का खंडन करते हुए कहा है कि चीन का कोई सैनिक या असैनिक भारतीय सीमा में मौजूद नहीं है। भारतीय जनता पार्टी के अरूणाचल प्रदेश से सांसद तापिर गाव के हवाले से मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि चीन के सैनिकों ने अंजा जिले में अतिक्रमण कर नदी की एक धारा पर लकड़ी का एक पुल बनाया है। रिपोर्टों में यह क्षेत्र भारतीय सीमा में 25 किलोमीटर अंदर बताया गया गया है। 

यह खबर भी पढ़ें: ​नता नौ माह में ही कांग्रेस से त्रस्त हो गयी है- तोमर

सेना के प्रवक्ता ने आज यहां इन रिपोर्टों का खंडन करते हुए कहा कि चीन की ओर से किसी तरह का अतिक्रमण नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि कुछ टेलीविजन चैनलों पर मीडिया रिपोर्ट में जिस क्षेत्र में अतिक्रमण का जिक्र किया गया है वह ‘फिश टेल’ का इलाका है। कई क्षेत्रों में वास्तविक नियंत्रण रेखा को लेकर अलग अलग धारणा है। इस क्षेत्र में घना जंगल है और इसमें नालों तथा धाराओं के साथ साथ पैदल ही जाया जा सकता है। मानसून के दौरान जब नाले में पानी भर जाता है तो गश्ती दल इन्हें पार करने के लिए अस्थायी पुल बना देते हैं। अलग-अलग धारणा वाले क्षेत्रों में भी दोनों ओर के सैनिक नियमित रूप से गश्त करते हैं । गर्मियों में शिकारी और जड़ी बूटी एकत्र करने वाले लोग भी इन क्षेत्रों में आते रहते हैं। 

प्रवक्ता ने कहा कि जिस क्षेत्र का जिक्र किया गया है उसमें कोई चीनी सैनिक या असैनिक मौजूद नहीं है और सेना इसकी नियमित निगरानी कर रही है। उन्होंने कहा कि सीमा से लगे क्षेत्रों से संबंधित मुद्दों के समाधान के लिए भारत और चीन के स्थापित राजनयिक तथा सैन्य तंत्र हैं। दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हैं कि सीमा पर शांति तथा मैत्री द्विपक्षीय संबंधों की मजबूती के लिए जरूरी है। दोनों पक्ष सीमा से संबंधित किसी भी मुद्दे का 2005 के राजनीतिक मापदंड और सिद्धांतों पर आधारित समझौते के अनुसार समाधान करने के लिए भी सहमत हैं। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From national

Trending Now
Recommended