संजीवनी टुडे

चीन किसी भी द्विपक्षीय समझौते को मानने को तैयार नहीं, लेकिन हम भी देश का मस्तक झुकने नहीं देंगे: राजनाथ सिंह

संजीवनी टुडे 17-09-2020 13:24:49

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लोकसभा के बाद गुरुवार को भारत-चीन सीमा पर जारी विवाद को लेकर ऊपरी सदन में बयान दिया। उन्होंने कहा कि एलएसी के मुद्दों पर चीन जिम्मेदारी दिखाए। साथ उन्होंने जोर देकर कहा कि हम देश का मस्तक झुकने नहीं देंगे


नई दिल्ली। संसद के मानसून सत्र का आज चौथा दिन है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लोकसभा के बाद गुरुवार को भारत-चीन सीमा पर जारी विवाद को लेकर ऊपरी सदन में बयान दिया। उन्होंने कहा कि एलएसी के मुद्दों पर चीन जिम्मेदारी दिखाए। साथ उन्होंने जोर देकर कहा कि हम देश का मस्तक झुकने नहीं देंगे, न हम किसी का मस्तक झुकाना चाहते हैं। रक्षा मंत्री ने अपने बयान में कहा कि चीन किसी भी द्वपक्षीय समझौते को मानने को तैयार नहीं है। चीन ने 1993 और 1996 के समझौतों का उल्लंघन किया है। राजनाथ सिंह ने कहा कि जरूरत पड़ने पर सेना मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम है।

Rajnath Singh

जानकारी के अनुसार राजनाथ सिंह ने कहा कि सदन इस बात से अवगत है कि भारत और चीन सीमा का प्रश्न अभी तक अनसुलझा है। भारत और चीन की बाउंड्री का कस्टमरी और ट्रेडिशनल अलाइनमेंट चीन नहीं मानता है। यह सीमा रेखा अच्छे से स्थापित भौगोलिक सिद्धांतों पर आधारित है।

Rajnath Singh

रक्षा मंत्री ने कहा, 'चीन मानता है कि बाउंड्री अभी भी औपचारिक तरीके से निर्धारित नहीं है। उसका मानना है कि हिस्टोरिक्ल जुरिस्डिक्शन के आधार पर जो ट्रेडिश्नल कस्टमरी लाइन है उसके बारे में दोनों देशों की अलग व्याख्या है। 1950-60 के दशक में इस पर बातचीत हो रही थी पर कोई समाधान नहीं निकला।'

यह खबर भी पढ़े: पूर्व क्रिकेटर सचिन की कोरोना से मौत, वेदांत हॉस्पिटल में ली अंतिम सांसे

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended