संजीवनी टुडे

हिंसा के विरोध में अब छ्त्तीसढ़ के डॉक्टरों ने खोला मोर्चा

संजीवनी टुडे 14-06-2019 18:47:44

पश्चिम बंगाल में राज्य सरकार द्वारा डॉक्टरों के खिलाफ हो रही हिंसा के विरोध में छत्तीसगढ़ में भी डॉक्टरों ने मोर्चा खोल दिया है।


रायपुर | पश्चिम बंगाल में राज्य सरकार द्वारा डॉक्टरों के खिलाफ हो रही हिंसा के विरोध में छत्तीसगढ़ में भी डॉक्टरों ने मोर्चा खोल दिया है। शुक्रवार को भीमराव अंबेडकर मेमोरियल अस्पताल के रेजिडेंट डॉक्टरों ने पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों से मारपीट का विरोध जताते हुए 'वी वांट जस्टिस' के नारे लगाए। वहीं, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन से जुड़े छत्तीसगढ़ के डॉक्टरों ने शुक्रवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को एक पत्र लिखकर दोषियों पर कार्रवाई करने तथा नया कानून लागू करने की मांग की है। डॉक्टरों ने नया कानून लाने की मांग करते हुए पत्र में लिखा है कि डॉक्टरों के साथ हिंसा या अस्पतालों में हिंसा करने वालों को कम से कम सात साल की जेल हो। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, छ्त्तीसगढ़ के डाक्टर्स एनआरएस मेडिकल कॉलेज, कोलकाता में जूनियर डॉक्टर्स के साथ हुई हिंसा को लेकर रायपुर के जिलाधीश को ज्ञापन भी सौंपेंगे। 

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, छत्तीसगढ़ द्वारा पत्र में लिखा गया है कि हमारे देश में डॉक्टरों और स्वास्थ्य सेवा प्रतिष्ठानों के खिलाफ हिंसा की बढ़ती घटनाएं हो रही हैं। पश्चिम बंगाल में हाल ही में एक घटना में एनआरएस मेडिकल कॉलेज, कोलकाता में हिंसक भीड़ द्वारा युवा डॉक्टर डा. परिभा मुखर्जी व एक अन्य पर क्रूरतापूर्ण हमला बेहद निंदनीय है । वह  गंभीर रूप से घायल हैं और अपने जीवन के लिए लड़ रहे हैं । पत्र में आगे लिखा गया है कि सभी व्यक्तियों को हिंसा के खतरे के बिना सुरक्षित वातावरण में काम करने का अधिकार है। छत्तीसगढ़ के डॉक्टरों ने कहा कि चिकित्सा पेशे से जुड़े लोगों पर हिंसा के किसी भी रूप की निंदा करते हैं । 

मात्र 260000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166 

More From national

Trending Now
Recommended