संजीवनी टुडे

साधु संतों ने विभिन्न मुद्दों पर किया चिंतन मंथन,15 को तय होगी फाइनल रणनीति

संजीवनी टुडे 03-06-2019 22:49:26

अयोध्या में राम जन्मभूमि मुद्दे को लेकर संतों की बैठक मणिराम दास छावनी में संपन्न हुई। बैठक में तय हुआ कि राम मंदिर समेत अन्य मुद्दों को लेकर फाइनल रणनीति 15 जून को आयोजित विराट संत सम्मेलन में लिया जाएगा


अयोध्या। अयोध्या में राम जन्मभूमि मुद्दे  को लेकर संतों की बैठक मणिराम दास छावनी में संपन्न हुई। बैठक में तय हुआ कि राम मंदिर समेत अन्य मुद्दों को लेकर फाइनल रणनीति 15 जून को आयोजित विराट संत सम्मेलन में लिया जाएगा। बैठक में अयोध्या के संत धर्माचार्याें के साथ विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारी और राम जन्मभूमि न्यास के पदाधिकारी उपस्थित रहे।  बैठक में राम मंदिर निर्माण पर संतों ने कड़ा रुख जताते हुए मोदी सरकार का स्वागत किया और कहा कि मोदी और योगी के समय ही रामजन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण होगा। 

राम जन्मभूमि न्यास अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास की अध्यक्षता में सोमवार को राम नगरी के मणिराम दास छावनी में आयोजित साधु संतों की बैठक में राम मंदिर मुद्दा समेत अन्य मसलों पर चिंतन-मंथन किया गया। राम जन्म भूमि पर भव्य मंदिर निर्माण के लिए केंद्र सरकार तथा भाजपा पर दबाव बनाने का निर्णय हुआ | सोमवार को दूसरी पहर मणिराम दास छावनी में आयोजित साधु संतों की बड़ी बैठक में राम जन्म भूमि, धारा 370, जनसंख्या नियंत्रण कानून तथा 35a पर साधु संतों ने विचार-विमर्श किया। साधु संतों ने कहा कि अब केंद्र में भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में पूर्ण बहुमत की सरकार आ गई है। रामलला को बहुत दिनों तक टाट में नहीं देखा जा सकता। समय आ गया है कि राम जन्म भूमि पर भव्य राम मंदिर का निर्माण शुरू हो। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के उपास को तथा अनुयायियों को इसी दिन का इंतजार है। 

साधु संतों ने कहा कि अब समय आ गया है कि जिन मुद्दों को लेकर हिंदूवादी संगठन कई दशक से आंदोलन कर रहे हैं, उसको पूरा कराने के लिए प्रभावी कार्रवाई शुरू की जाए। जम्मू कश्मीर से धारा 370 और 35a का खात्मा हो तथा जनसंख्या नियंत्रण के लिए एक प्रभावी कानून लागू किया जाए। संतों की बैठक में न्यास अध्यक्ष श्री दास के जन्मोत्सव को लेकर 7 जून से शुरू होकर 15 जून तक चलने वाले कार्यक्रमों की रूपरेखा बनाने तथा उसको सफल बनाने के लिए किए जाने वाले इंतजामों पर विस्तार से चर्चा हुई। कहा गया कि सभी साधु संत मिलकर कार्यक्रम को ऐतिहासिक बनाने के लिए जुट जाएँ  और कोई कोर कसर न रहने पाए। साधु संतों ने एक स्वर में न्यास अध्यक्ष के जन्मोत्सव को लेकर विचाराधीन विवादास्पद मुद्दों पर फाइनल रणनीति तैयार करने के लिए 15 जून को आयोजित विराट संत सम्मेलन में इन मुद्दों को रखे जाने तथा मुद्दों पर विस्तार से चर्चा कराए जाने का निर्णय लिया। 

साथ ही राम जन्म भूम पर भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए सभी को अपने अपने स्तर से दबाव बनाने तथा जरूरत पड़ने पर आंदोलन के लिए तैयार रहने को कहा गया। 

बैठक में तपस्वी छावनी के उत्तराधिकारी मंहत परमहंस दास नेराम मंदिर का मुद्दा उठाते हुए कहा कि भगवान राम टेंट में हैं , क्या उनको धूप नहीं लगती है, हम लोगों को गर्मी से बचने के लिए पंखा चाहिए, फिर उनको भी मिलना चाहिए  | बैठक में परमहंस दास ने साधु-संतों से सवाल पूछते हुए कहा कि विरोधी सरकार आ जाएगी तो क्या हम आंदोलन करके पुनः गोली खाएंगे।  

बैठक का संचालन कर रहे अयोध्या संत समिति के रामायणी कन्हैया दास ने कहा कि 15 तारीख को संत समाज की बैठक होगी। इसमें निर्णय लिया जाएगा कि राम मंदिर निर्माण कैसे हो। बैठक में उदासीन आश्रम रानोपाली के महंत  डॉ. भरत दास ने कहा कि एक बार प्रधानमंत्री से मुलाकात करके राम मंदिर के निर्माण की बात की जाएगी। उन्होंने कहा कि पीएम से मिलकर पूछना चाहिए कि कब तक हमें इंतजार करना होगा? इस विषय पर संत समाज को एक प्रतिनिधिमंडल प्रधानमंत्री से मुलाकात करने के लिए भेजना चाहिए। 

बैठक की अध्यक्षता राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष मणिराम राम दास छावनी के महंत नृत्य गोपाल दास ने की । बैठक में राम जन्म भूमि मंदिर निर्माण से लेकर कई आम मुद्दों पर विहिप के उपाध्यक्ष चंपत राय ने विस्तार से चर्चा की । उन्होंने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने राम जन्म भूमि पर अपना रूख स्पष्ट कर दिया है।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

 बैठक में राम जन्मभूमि न्यास के सदस्य डॉ रामविलास दास वेदांती, बीएफ मार्गदर्शक मंडल सदस्य पुरुषोत्तम नारायण सिंह, विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय मंत्री चंपत राय, दिगंबर अखाड़े के महंत सुरेश दास , अयोध्या संत समिति के अध्यक्ष महंत कन्हैया दास, विराजमान रामलला के हिंदू पक्ष कार त्रिलोकी नाथ पांडे, बजरंग दल के भोले इंद्र सिंह, राम वल्लभा कुंज के अधिकारी महंत राजकुमार दास स्वामी परमहंस राम नारायण आचार्य स्वामी दिलीप दास गुरुद्वारा ब्रह्म कुंड के मुख्य ग्रंथि ज्ञानी गुरजीत सिंह खालसा, विहिप के मीडिया प्रभारी शरद शर्मा  समेत तमाम साधु-संत मौजूद रहे। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

 

More From national

Trending Now
Recommended