संजीवनी टुडे

क्रिकेट से मजबूत होंगे भारत ब्रिटेन के रिश्ते: ब्रिटिश राजनयिक

संजीवनी टुडे 06-03-2019 15:04:32


कोलकाता। पुलवामा हमले को लेकर एक तरफ भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआई) ने इंगलैंड के मैनचेस्टर में होने वाले विश्वकप से पाकिस्तान को बाहर करने की मांग की है तो दूसरी और ब्रिटेन के राजनयिक ने दावा किया है कि मैनचेस्टर में होने वाले विश्वकप से भारत ब्रिटेन के रिश्ते और मजबूत होंगे। पाकिस्तान को इससे बाहर करने की मांग को आईसीसी ने खारिज कर दिया है और साफ कर दिया गया है कि पाकिस्तान को विश्व कप से बाहर नहीं किया जाएगा। इस पर बीसीसीआई को अपना रुख अभी स्पष्ट करना है।

जयपुर में प्लॉट मात्र 260000/- में, 12 माह की आसान किस्तों में कॉल  9314166166


कोलकाता स्थित ब्रिटेन के उप उच्चायुक्त ब्रूस बकनेल ने बुधवार को एक बयान जारी कर कहा कि ब्रिटेन में 30 मई से विश्व कप का आयोजन शुरू हो रहा है। ब्रिटेन का वीजा और आव्रजन विभाग ‘हजारों भारतीय’ मेहमानों का स्वागत करने की तैयारी कर रहा है, जिनके 30 मई से 14 जुलाई के बीच 12वें क्रिकेट विश्व कप के लिए ब्रिटेन पहुंचने की उम्मीद है। इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता को सफल बनाने में भारत की अहम भूमिका होगी। बकनेल ने कहा, ‘‘क्रिकेट हमें एकजुट करता है, देशों और समुदायों को जोड़ता है और हमें सक्रिय बनाता है। अब से अंतिम गेंद फेंके जाने तक हम पूरे भारत के अपने साझेदारों के साथ काम करेंगे जिससे कि टूर्नामेंट सफल बन सके और भारत-ब्रिटेन रिश्ते और मजबूत हों।’’

MUST WATCH & SUBSCRIBE

जिन सेवाओं की पेशकश की जा रही है, उसमें किसी समूह को मिलने का एकसाथ समय देना शामिल है। यात्रा करने वाले लोग एकसाथ एक समय पर एक ही वीजा आवेदन केंद्र पर टिकटों, रेल पास और ब्रिटेन की अन्य सुविधाओं के लिए आवेदन कर सकते हैं। राजनयिक ने कहा है, 'हम सुनिश्चित करेंगे कि विश्व कप कोई भी जीते, लेकिन यह टूर्नामेंट ब्रिटेन और भारत को करीब लाए।'उल्लेखनीय है कि पुलवामा हमले में पाकिस्तान की संलिप्तता सामने आने के बाद भारत लगातार विश्वकप से पाकिस्तान को बाहर करने की मांग कर रहा है। बीसीसीआई ने इससे संबंधित चिट्ठी भी आईसीसी को दी थी, लेकिन आईसीसी ने उसका संज्ञान नहीं लिया और साफ कर दिया कि पाकिस्तान को विश्व कप से बाहर नहीं किया जाएगा। इस बीच देशभर में यह मांग अभी भी जोरों पर है कि भारत या तो विश्व कप खेलने से इन्कार कर दे या फिर आईसीसी पर दबाव बनाए कि पाकिस्तान को बाहर किया जाए। ऐसे में ब्रितानी उच्चायुक्त के बयान को डैमेज कंट्रोल के तौर पर देखा जा रहा है।

More From national

Trending Now
Recommended