संजीवनी टुडे

कांकीनाड़ा में नहीं थम रही बमबारी, 5वें दिन भी दहशत में लोग

संजीवनी टुडे 16-07-2019 22:44:19

कांकीनाड़ा इलाका शांत होने का नाम नहीं ले रहा है।


कोलकाता। उत्तर 24 परगना के भाटपाड़ा विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत कांकीनाड़ा इलाका शांत होने का नाम नहीं ले रहा है। गत शुक्रवार को शुरू हुई हिंसा पांचवे दिन यानी मंगलवार को भी जारी रही। हिंसा की वजह से पूरे क्षेत्र में बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती है। इसके बावजूद अपराधियों ने भाटपाड़ा थाने से चंद कदम की दूरी पर छह नंबर गली में सुबह के समय दो बम फेंके हैं। बम फेंकने के बाद ब्लास्ट भी हुआ, जिसकी आवाज से इलाके में दहशत फैल गई। बमबारी के आरोप में सागर और रोहित नाम के दो युवकों को गिरफ्तार किया गया है।

हालांकि इन दोनों का कहना है कि इनका बमबारी से कोई लेना देना नहीं है। वे बहुसंख्यक समुदाय से जुड़े हैं, इसलिए पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया है। दोनों ने दावा किया है कि वे अपने घर पर ब्रश कर रहे थे, तभी पुलिस ने इन्हें जबरदस्ती गिरफ्तार किया है।

दरअसल गत शुक्रवार को ही क्षेत्र में बमबारी की शुरुआत हुई थी। पुलिस ने शेख शाहजहां नाम के एक अपराधी को भी गिरफ्तार किया था। दो समुदायों के बीच उसके बाद से ही लगातार तनाव बरकरार है। संभावित संघर्ष को टालने के लिए क्षेत्र में अतिरिक्त संख्या में पुलिसकर्मियों के साथ साथ रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) की भी तैनाती की गई है। खुद बैरकपुर पुलिस आयुक्त मनोज वर्मा पूरी परिस्थिति पर नजर रख रहे हैं। उन्होंने जमीन पर उतरकर आला अधिकारियों के साथ गली-गली का दौरा किया है और लोगों से बातचीत कर शांति बहाली की अपील की है।

सतर्कता बरतते हुए इलाके में धारा 144 लगाई गई है। इसके बावजूद मंगलवार को हुई बमबारी ने प्रशासन की लाचारी और अपराधियों के बढ़े हुए मनोबल को उजागर कर दिया है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बम फेंकने वालों ने अपना चेहरा नकाब से ढक रखा था और सफेद कपड़े पहन कर आए थे। एक ही जगह पर दो बम फेंककर वे आसानी से फरार भी हो गए।

अस्पताल में नहीं जा रहे हैं रोगी 
एक दिन पहले ही सोमवार को अस्पताल में हुई तोड़फोड़ के बाद पूरे क्षेत्र में लोग दहशत में हैं। डर की वजह से नगर पालिका द्वारा परिचालित मातृ सदन अस्पताल में इक्के दुक्के के मरीज ही मंगलवार को इलाज कराने के लिए पहुंचे थे। स्वास्थ्य अधिकारी डॉ आशीष चक्रवर्ती ने कहा कि घटना के बाद से अस्पताल में पुलिस की सुरक्षा बढ़ाने की मांग की गई है। फिलहाल क्षेत्र में तनावपूर्ण माहौल है, इसीलिए पुलिस की तैनाती है लेकिन आगे रहेगी या नहीं यह कोई नहीं जानता।

उन्होंने स्वीकार किया कि अस्पताल में हालात सामान्य नहीं है। नियमित तौर पर जितने लोग आते हैं, उससे कम संख्या में लोग आ रहे हैं। सुरक्षा के मद्देनजर अस्पताल के गेट पर ताला लगाया गया है और मरीजों के साथ उनके परिजनों की पहचान सुनिश्चित करने के बाद ही अंदर जाने दिया जा रहा है।

दिनभर बंद रहीं दुकानें, बाजार और स्कूल 
इधर मंगलवार को सुबह से ही क्षेत्र की दुकानें, बाजार और स्कूल बंद रहे हैं। सड़कों पर भी इक्का-दुक्का लोग ही नजर आए हैं। बैंकों की भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सभी बैंकों को अंदर से बंद करके रखा जा रहा है। मंगलवार को बमबारी के बाद पुलिस आयुक्त मौके पर पहुंचे थे। उन्होंने आला अधिकारियों को पूरे क्षेत्र में तलाशी अभियान चलाने का निर्देश दिया है। इसके बावजूद लोग डर के साए में रह रहे हैं। अधिकतर लोगों ने क्षेत्र को छोड़कर दूसरे इलाकों मे अपने रिश्तेदारों के यहां सपरिवार शरण ली है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From national

Trending Now
Recommended