संजीवनी टुडे

प्रचार की समय सीमा में कटौती को लेकर भाजपा-तृणमूल में जुबानी जंग

संजीवनी टुडे 16-05-2019 11:42:35


कोलकाता। पश्चिम बंगाल में भाजपा के राजनीतिक प्रचार के समय तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा लगातार किए जा रहे हमले को देखते हुए आयोग ने कड़ा कदम उठाया है। राज्य में चुनाव प्रचार की समय अवधि में कटौती करते हुए इसे शुक्रवार के बजाय गुरुवार को ही रोकने का निर्देश दिया है और राज्य के गृह सचिव अत्री भट्टाचार्य को तत्काल प्रभाव से उनके पद से हटा दिया है। इसे लेकर भाजपा ने खुशी जताई हैं और बंगाल के हालात को लेकर ममता सरकार को आड़े हाथों लिया। रात 11:00 बजे के करीब इस मामले पर भाजपा के वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय ने मीडिया से बात की। 

उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी के शासन में बंगाल बुरे दौर से गुजर रहा है। पत्रकार सम्मेलन के दौरान उन्होंने कुछ तस्वीरें दिखाई। इसमें उन्होंने दावा किया कि अमित शाह का रोड शो पर जिस विद्यासागर कॉलेज से हमले किए गए थे वहां ममता बनर्जी जब पहुंची थी तब जो लोग खड़े थे वह छात्र नहीं है। 

उन्होंने अभिषेक मिश्रा और कई अन्य लोगों का जिक्र किया जो मीडिया के कैमरों के सामने ममता बनर्जी के पास घायल अवस्था में खड़े थे। मुकुल ने कहा कि ये सारे लोग तृणमूल युवा के कार्यकर्ता हैं और विद्यासागर कॉलेज से उनका कोई लेना-देना नहीं। फिर राज्य सरकार को बताना चाहिए कि अमित शाह के रोड शो के दौरान इन लोगों को विद्यासागर कॉलेज के अंदर क्यों छिपाया गया था? इसका मतलब है कि अमित शाह पर हमला पूर्व प्रायोजित था।

 उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी के साथ खड़ा एक शख्स कह रहा था कि अमित शाह के रोड शो पर हमले के बाद भाजपा के कार्यकर्ताओं ने मारकर उसका हाथ तोड़ दिया है जबकि तीन दिन पहले ही उसका हाथ टूटा हुआ था। उन्होंने कहा कि अमित शाह का रोड शो चुनाव आयोग की अनुमति से हो रहा था फिर उनके काफिले के रूट पर इन लोगों को क्यों एकत्रित किया गया था और इन लोगों ने क्यों पत्थरबाजी की, इसका जवाब ममता को देना चाहिए। गृह सचिव  अत्री भट्टाचार्य को हटाये जाने  संबंध में उन्होंने कहा कि  इस अधिकारी ने ममता बनर्जी की चाटुकारिता करने के चक्कर में पूरे राज्य की कानून व्यवस्था का बेड़ा गर्क कर दिया था चुनाव आयोग ने इन्हें सही सजा दी है। 

गिरफ्तार होंगे राजीव कुमार 
इस दौरान  मुकुल रॉय ने दावा किया कि अब जब चुनाव आयोग ने कोलकाता पुलिस के पूर्व आयुक्त और सीआईडी के एडीजी राजीव कुमार को गृह मंत्रालय में रिपोर्ट करने का निर्देश दिया है तो उनकी गिरफ्तारी तय है। उन्होंने कहा कि यह राजीव कुमार ही थे जिनकी वजह से आज तक चिटफंड पीड़ितों को न्याय नहीं मिल सका क्योंकि उन्होंने सभी संलिप्तों के खिलाफ साक्ष्य मिटा दिए थे। मुकुल ने कहा कि गिरफ्तारी के बाद सभी आरोपितों का राज खुलेगा और कोई नहीं बचेगा। मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

 

ममता ने चुनाव आयोग पर लगाया पक्षपात का आरोप 
इधर रात के समय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पत्रकार सम्मेलन कर आयोग के इस फैसले की कड़ी निन्दा की है। उन्होंने कहा कि 'चुनाव आयोग ने नहीं बल्कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने गृह सचिव को हटाने का निर्देश दिया।

 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

 चुनाव आयोग को कोलकाता की हिंसा के लिए अमित शाह के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए थी। ममता बनर्जी ने यह भी कहा कि 'हम कहां रह रहे हैं...कोई लोकतंत्र नहीं है...सुप्रीम कोर्ट भी नहीं  सुन रहा..कई मुकदमे हैं लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही। ममता बनर्जी ने प्रेस कॉन्फ्रेस में कहा कि ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ी गई लेकिन नरेंद्र मोदी ने इसकी निंदा नहीं की। बंगाल के लोगों ने इसे काफी गंभीरता से लिया है। अमित शाह के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।' बंगाल को इसलिए निशाना बनाया गया क्योंकि मैं मोदी के खिलाफ बोलती हूं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended