संजीवनी टुडे

मुश्किल में BJP नेता चिन्मयानन्द, सामने आया छात्रा से तेल मालिश कराने वाला अश्लील VIDEO

संजीवनी टुडे 11-09-2019 16:42:21

वीडियो में चिन्मयानंद जैसे दिखने वाले शख्स से मसाज करने वाली लड़की की बातचीत से अंदाजा होता है की लड़की कॉलेज की छात्रा है


नई दिल्ली। पूर्व गृह राज्य मंत्री और भाजपा नेता स्वामी चिन्मयानन्द की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है। क्योकि उनके नाम से एक वायरल एक वीडियो पर विवाद हो रहा है। वीडियो में चिन्मयानंद जैसा दिखने वाला एक शख्स बिना कपड़ों में एक लड़की से मसाज कराते नज़र आ रहा है। 

यह खबर भी पढ़े: तिहाड़ में बंद चिदंबरम को अर्थव्यवस्था की चिंता, मोदी सरकार से पूछा- कहां है योजना?

वीडियो में चिन्मयानंद जैसे दिखने वाले शख्स से मसाज करने वाली लड़की की बातचीत से अंदाजा होता है की लड़की कॉलेज की छात्रा है क्योंकि वह उससे उसकी पढ़ाई वग़ैरह के बारे में पूछ रहा है। ज़्यादातर वीडियो रिकॉर्डिंग पर 31 जनवरी 2014 की तारीख  दिख रही है। वीडियो सुबह का लगता है क्योंकि सुबह की धूप खिड़की से कमरे में आ रही है और चिड़ियां चहक रही हैं। वीडियो में शख्स और लड़की के बीच की बातचीत निजी है और सार्वजनिक करने के लायक नहीं है। 

वायरल वीडियो के बारे में पूछने पर चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली लड़की ने कहा, 'चिन्मयानंद का जो भी वीडियो वायरल हो रहा है, जैसा की मैंने लोगों के मुंह से सुना है, देखा नहीं है उसमें मेरा कोई हाथ नहीं है। मैं सिर्फ और सिर्फ उस इंसान को सजा दिलवाना चाहती हूं. मेरे हाथ से पेन ड्राइव छीन ली गयी थी इससे ज्यादा इसके बारे में कुछ नहीं कहूंगी। मैंने आज के अखबार में पढ़ा है कि वह पेन ड्राइव संजय ने एसआईटी को सौंप दी है। अब उस पेन ड्राइव की सुरक्षा एसआईटी कर सकती है। 

लड़की के जवाब से ऐसा लगता है की वह इस बात से इंकार कर रही है की उसने वीडियो वायरल किया है। लेकिन वह वीडियो को चिन्मयानंद के खिलाफ सुबूत मानती हैं। इसीलिये वह कहती हैं कि 'अब उस पेन ड्राइव की सुरक्षा एसआईटी कर सकती है। लड़की आगे कहती है की जब तक पेन ड्राइव मेरे पास थी, सुरक्षित थी। 

यह खबर भी पढ़े: ISRO का चंद्रयान-2 को लेकर बड़ा खुलासा, ग्राफ में नजर आया सबूत

वही चिन्मयानंद के वकील ओम सिंह ने वीडियो के बारे में कहा, 'छात्रा कल कह रही थी की वह पिछले एक बरस से हॉस्टल में रह रही थी। तो सीधी सी बात है की वह वीडियो पूरी तरह से फर्जी है। क्योंकि एक वर्ष से वह हॉस्टल में रह रही थी और वीडियो 2014 का है। तो यह प्रथम दृष्टया ही पता चलता है की वह वीडियो पूरी तरह से फेक है। उसे कंप्यूटर से एनीमेशन के द्वारा बनाया गया है। चिन्मयानंद प्रकरण की जांच एसआईटी कर रही है। लेकिन एसआईटी इस बारे में टिपण्णी करने से बच रही है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From national

Trending Now
Recommended