संजीवनी टुडे

दिल्ली सरकार से बड़ी चूक, एक विज्ञापन में सिक्किम को बता दिया पड़ोसी देश, सीएम का ऑफिसर पर तुरंत एक्शन

संजीवनी टुडे 24-05-2020 03:28:00

दिल्ली सरकार के एक विज्ञापन में सिक्किम को पड़ोसी देशों भूटान और नेपाल की श्रेणी में रख दिया गया।


नई दिल्ली। कोरोना से निपटने के लिए देश की तमाम राज्य सरकारें अलग अलग कोशिशों में लगी हुई है। लेकिन इसी बीच कोई इस तरह की गलती भला कैसे कर सकता है? आप जानकर हैरान रह जाएंगे कि दिल्ली सरकार के एक विज्ञापन में सिक्किम को पड़ोसी देशों भूटान और नेपाल की श्रेणी में रख दिया गया। अखबार में विज्ञापन प्रकाशित होते ही सिक्किम सरकार ने बेहद कड़ी आपत्ति जताते हुए इसे तुरंत वापस लेने की मांग की।

DILLI SARKAAR

दिल्ली सरकार ने भी मामले की गंभीरता को समझते हुए तुरंत ऐक्शन लिया और संबंधित अधिकारी को निलंबित कर दिया। दरअसल,  इसकी जानकारी दिल्ली के मुख्यंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करके दी और कहा, 'सिक्किम भारत का अभिन्न अंग है। इस तरह की गलतियों को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। विज्ञापन वापस लिया जा चुका है और संबंधित ऑफिसर के खिलाफ कार्रवाई की गई है।' सीएम ने ये बातें उप-राज्यपाल (LG) अनिल बैजल के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए कहीं।

बैजल ने अपने ट्वीट में कहा, 'विज्ञापन प्रकाशित कर सिक्किम को पड़ोसी देशों की श्रेणी में रखकर भारत की क्षेत्रीय अखंडता का अपमान करने के कारण सिविल डिफेंस डायरेक्टरेट हेडक्वॉर्टर के एक वरिष्ठ अधिकारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।' उन्होंने आगे लिखा, 'इस तरह के गंभीर दुराचार के प्रति जीरो टॉलरेंस! विज्ञापन को वापस लेने का भी निर्देश दे दिया गया है।'

DILLI SARKAAR

दरअसल, यह बवाल तब शुरू हुआ जब दिल्ली सरकार की तरफ से सिविल डिफेंस कॉर्प में वॉल्युंटिअर के लिए ऐडवर्टिजमेंट पब्लिश किया गया। इसमें अभ्यर्थियों के लिए अर्हता सूची में पहले नंबर पर निवास स्थान का जिक्र किया गया। इसमें लिखा गया, 'भारत या सिक्किम अथवा भूटान अथवा नेपाल के नागरिक और दिल्ली के निवासी।'

इसका पता चलते ही सिक्किम के मुख्य सचिव एससी गुप्ता ने दिल्ली सरकार को पत्र लिखकर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई। उन्होंने दिल्ली सरकार से इस 'अपमानजनक' ऐड को तुरंत वापस लेने की मांग की और इसे लोगों के लिए बेहद पीड़ादायक बताया। उधर, सिक्किम के सीएम प्रेम सिंह तमांग ने भी ट्वीट कर इस ऐड पर गहरी आपत्ति जताई। उन्होंने लिखा, 'सिक्किम भारत का हिस्सा है। यह बिल्कुल निंदनीय है और मैं दिल्ली सरकार से गलती सुधारने का आग्रह करता हूं।' उन्होंने अगले ट्वीट में कहा, 'दिल्ली सरकार का यह विज्ञापन विभिन्न प्रिंट मीडिया में प्रकाशित हुआ है जिसमें सिक्किम को भूटान और नेपाल जैसे देशों के साथ रखा गया है। सिक्किम 1975 से भारत का अंग है और एक हफ्ता पहले ही राज्य का स्थापना दिवस मनाया।'

यह खबर भी पढ़े: संकट के समय भारत अपने मित्र मारीशस का सहयोग करने के लिए कर्तव्यबद्धः प्रधानमंत्री

यह खबर भी पढ़े: ममता ने चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों का किया दोबारा दौरा, पीड़ितों की संख्या छह करोड़ बताई

VB

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended