संजीवनी टुडे

सर्वश्रेष्ठ सुरक्षा रिकॉर्ड : पिछले 11 महीने में रेल दुर्घटना में किसी यात्री ने नहीं गंवाई जान

संजीवनी टुडे 25-02-2020 20:21:21

भारतीय रेल ने सुरक्षा के लिहाज से चालू वित्त वर्ष में अब तक शानदार प्रदर्शन कर सर्वश्रेष्ठ सुरक्षा रिकॉर्ड कायम किया है। इस अवधि में हुई रेल दुर्घटनाओं में किसी भी यात्री को अपनी जान नहीं गंवानी पड़ी है।


नई दिल्ली। भारतीय रेल ने सुरक्षा के लिहाज से चालू वित्त वर्ष में अब तक शानदार प्रदर्शन कर सर्वश्रेष्ठ सुरक्षा रिकॉर्ड कायम किया है। इस अवधि में हुई रेल दुर्घटनाओं में किसी भी यात्री को अपनी जान नहीं गंवानी पड़ी है।

रेल मंत्रालय ने मंगलवार को एक बयान जारी कर कहा कि 166 वर्ष पूर्व 1853 में भारत में रेलवे प्रणाली की शुरुआत के बाद से वर्तमान वित्त वर्ष 2019-20 में यह अद्भुत सफलता पहली बार हासिल की गई है। एक अप्रैल,2019 से 24 फरवरी,2020 की अवधि के दौरान अर्थात् पिछले 11 महीनों में किसी रेल दुर्घटना में किसी भी रेल यात्री की मौत नहीं हुई है। यह भारतीय रेलवे द्वारा सुरक्षा में चौतरफा सुधार करने के निरंतर जारी प्रयासों का परिणाम है।

बयान के मुताबिक रेलवे के लिए सुरक्षा सर्वोच्च प्राथमिकता रही है। सुरक्षा में सुधार के लिए किए गए उपायों में रेल पटरियों को बड़े पैमाने पर बदलना, प्रभावी तरीके से पटरियों का रखरखाव, सुरक्षा पहलुओं की कड़ी निगरानी, रेल कर्मचारियों के प्रशिक्षण में सुधार, सिगनल प्रणाली में सुधार, सुरक्षा कार्यों के लिए आधुनिक प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल, परंपरागत आईसीएफ कोचों के स्थान पर विभिन्न चरणों में आधुनिक और सुरक्षित एलएचबी कोचों को लगाना शामिल है। साथ ही बड़ी लाइनों पर मानवरहित लेवल क्रॉसिंग गेटों को पूरी तरह समाप्त कर दिया गया है, जिसके परिणामस्वरूप दुर्घटनाएं खत्म हुई हैं और ट्रेनों के सुरक्षित परिचालन को गति मिली है।

उल्लेखनीय है कि रेलवे ट्रेन दुर्घटनाओं में रेलगाड़ियों की टक्कर, पटरी से उतरना, आग लगना,  लेवल क्रॉसिंग और अन्य विविध दुर्घटनाएं शामिल हैं।

यह खबर भी पढ़े: हिंसा पर भड़काऊ बयान देने की बजाए संयम बरतें नेतागण- अमित शाह

यह खबर भी पढ़े: कांग्रेस ने दिल्ली में भड़की हिंसा के लिए केंद्र और दिल्ली सरकार को ठहराया जिम्मेदार

मात्र 289/- प्रति sq. Feet में जयपुर में प्लॉट बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended