संजीवनी टुडे

एग्जिट पोल के नतीजों से भाजपा उत्साहित, अन्य पार्टियों ने नकारा

संजीवनी टुडे 20-05-2019 13:00:57


कोलकाता। लोकसभा चुनाव की मतगणना से पूर्व सामने आए एग्जिट पोल के नतीजों को लेकर  भारतीय जनता पार्टी की पश्चिम बंगाल इकाई गदगद है। हालांकि राज्य की अन्य  पार्टियों ने इसे नकार दिया है। एग्जिट पोल पर प्रतिक्रिया के लिए सोमवार को प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष जयप्रकाश मजूमदार से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि अधिकतर एग्जिट पोल ने यह संभावना व्यक्त की है कि इस बार भी नरेंद्र मोदी की ही सरकार बनेगी। यह तो पहले से ही तय था लेकिन बंगाल में भाजपा की सीटें भी ममता बनर्जी से अधिक आएंगी।

 "हिन्दुस्थान समाचार" से विशेष बातचीत में उन्होंने कहा कि जैसे ही केंद्र की सत्ता पर भाजपा की सरकार दोबारा बनेगी उसके बाद बंगाल में भी नया राजनीतिक समीकरण बनना शुरू हो जाएगा। ममता बनर्जी कि सरकार को छोड़कर अधिकतर नेता भाजपा के पास आएंगे। चुनाव प्रचार की अपनी रणनीति का खुलासा करते हुए जय प्रकाश मजमुदार ने बताया कि पश्चिम बंगाल में दोपहर के समय ममता बनर्जी जनसभा कर भाजपा अथवा प्रधानमंत्री के खिलाफ जो कुछ भी कहती थीं, वह तत्काल प्रधानमंत्री तक पहुंचा दिया जाता था। इसका फायदा यह होता था कि शाम के समय जब प्रधानमंत्री जनसभा करने के लिए बंगाल में होते थे तब उस दिन चंद घंटों या चंद मिनटों पहले कही गई ममता की बात का बिल्कुल ठोस जवाब देते थे। इसका लाभ यह हुआ कि पूरी मतदान प्रक्रिया के दौरान मतदाताओं को वोट देने से रोकने की सत्तारूढ़ पार्टी की लाख कोशिशों के बावजूद लोगों ने जमकर मतदान किया है और इसी का परिणाम है कि बंगाल में भाजपा की सीटें कहीं ममता से ज्यादा तो कहीं थोड़ी बहुत कम दिखाई जा रही हैं। यह उत्साहवर्धक है। 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने "हिन्दुस्थान समाचार" से विशेष बातचीत में एग्जिट पोल पर प्रतिक्रिया देते हुए   कहा कि यह सच है कि पहले कई बार एग्जिट पोल के आंकड़े वास्तविक आंकड़े से मिलते जुलते रहे हैं लेकिन फिर भी मैं इसे विश्वास नहीं कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में कांग्रेस को जीरो से 1 सीट दी जा रही है जबकि हकीकत यह है कि पार्टी अपनी 4 सीटों पर कब्जा बरकरार रखने में सक्षम होगी। उन्होंने कहा कि केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार बनने का दावा एग्जिट पोल में किया जा रहा है लेकिन इस बार मोदी सरकार नहीं बनेगी।

 वाममोर्चा विधायक दल के नेता सुजन चक्रवर्ती ने "हिन्दुस्थान समाचार" से विशेष बातचीत में कहा कि एग्जिट पोल अटल सत्य है ऐसा कभी भी नहीं समझा जा सकता। हम लोग इसे खारिज करते हैं। किसी भी एग्जिट पोल में वामपंथियों को बंगाल में एक भी सीट नहीं दी गई है जबकि बंगाल में तृणमूल का विकल्प केवल वाममोर्चा है। हालांकि उन्होंने कहा कि पिछले एक से डेढ़ महीने के दौरान ममता और मोदी ने मिलकर जिस तरह से ध्रुवीकरण की राजनीति की है वह देश के लोकतंत्र के लिए नुकसानदायक है। 

भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के महासचिव राजू बनर्जी ने  कहा कि एग्जिट पोल के आंकड़े हमारे लिए प्रत्याशित हैं। बंगाल के लोगों ने वामपंथियों के आततायी शासन से तंग होकर बंगाल में परिवर्तन किया था और ममता की सरकार बनाई थी। अब वही लोग एक बार फिर परिवर्तन चाहते हैं। तृणमूल शासन ने पश्चिम बंगाल के लोगों की आशाएं पूरी नहीं की। तानाशाह की तरह ममता बनर्जी ने शासन चलाया। राज्य भर में सिंडिकेट, रंगदारी, हिंसा को बढ़ावा दिया गया। पंचायत निर्वाचन के समय सैकड़ों लोगों की हत्या की गई। इससे लोग एक बार फिर गुस्से में है और इस सरकार को बदलना चाहते हैं। लोकसभा चुनाव में इसी गुस्से का परिणाम देखने को मिलेगा। राजू बनर्जी ने दावा किया कि 2021 के विधानसभा चुनाव में लोग और अधिक खुलकर ममता के खिलाफ वोट करेंगे।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

 

 उल्लेखनीय है कि रविवार  रात मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी एग्जिट पोल को खारिज करते हुए कहा था कि मैं एग्जिट पोल की गपशप पर भरोसा नहीं करती। यह एक साजिश है ताकि ईवीएम से छेड़छाड़ या बदलाव किया जा सके। उन्होंने विपक्षी नेताओं से एकजुट होकर रहने और मिलकर भाजपा के खिलाफ लड़ने का आह्वान किया था।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From national

Trending Now
Recommended