संजीवनी टुडे

सबरीमाला परम्परा की रक्षा का वादा करने वालों को ही वोट देंगे अय्यप्पा भक्त: एसएएसएस

संजीवनी टुडे 19-03-2019 22:16:03


नई दिल्ली। सबरीमाला अय्यप्पा सेवा समाजम(एसएएसएस) ने मंगलवार को कहा है कि सबरीमाला में चली आ रही पुरातन परंपरा का संरक्षण किया जाना चाहिए। अगर कोई बदलाव किया जाना है तो उसे अय्यप्पा भक्तों को ही तय करने दिया जाना चाहिए। एसएएसएस ने राजनीतिक पार्टियों, संगठनों और लोगों से अपील की है कि अय्यप्पा भक्त केवल उन्हें ही वोट देंगे जो इन्हें स्वीकार करेगा।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

सबरीमाला अय्यप्पा सेवा समाजम के राष्ट्रीय सचिव इरोड राजन ने मांग की है कि सबरीमाला सहित अन्य मंदिरों का अधिकार स्वायत्त निकायों को दिया जाना चाहिए। इसके अलावा संगठन ने तीर्थ यात्रा के लिए भक्तों को रियायत दी जानी चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि कुछ तीर्थ यात्रियों को टूर ऑपरेटर सबरीमाला दर्शन कराने के लिए केरल के बाहर से बड़ी संख्या में ला रहे हैं। इसमें कई महिलाएं शामिल हैं, जो 10 से 50 की उम्र के बीच की हैं। ऐसे में उन्हें बिना किसी रोक-टोक के दर्शन कराने के लिए वह नकली आईडी का प्रयोग कर रहे हैं ताकि उम्र कम और ज्यादा दर्शायी जा सके। ऐसा नहीं किया जाना चाहिए। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

इरोड राजन ने कहा कि एसएएसएस ने सभी राजनीतिक दलों को 18 बिन्दुओं वाला मांग पत्र भेजा है। आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनजर उन्होंने कहा कि सबरीमाला मंदिर व हिंदू धर्म को बचाने की उनकी मांग का समर्थन करने वालों को ही अय्यप्पा भक्त वोट देंगे।उल्लेखनीय है कि सबरीमाला मंदिर में 10 से 50 साल के बीच की महिलाओं पर परंपरागत तौर पर प्रवेश की मनाही है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद महिलाओं को प्रवेश का अधिकार दिया गया। इसके बाद से परंपरा और हिन्दू आस्था से छेड़छाड़ को लेकर अय्यप्पा भक्त आंदोलनरत हैं। 

More From national

Loading...
Trending Now
Recommended