संजीवनी टुडे

नीपको अधिकारी को अरुणाचल सरकार ने किया तलब

संजीवनी टुडे 16-02-2019 12:01:51


इटानगर। अरुणाचल प्रदेश के लोवर सुवनसिरी जिला याजाली के रंगा नदी (पान्यर) पर बने नॉर्थ ईस्टर्न इलेक्ट्रिक पॉवर कॉरपोरेशन लिमिटेड (नीपको) के 405 मेगावाट रंगानादी पनबिजली परियोजना (आरएचईपी) की मरम्मत से नदी के निछले हिस्सों में मछलियों के मरने को लेकर लोगों में भारी नाराजगी व्याप्त है। इसको देखते हुए राज्य सरकार ने नीपको के मुख्य प्रबंध निदेशक (सीएमडी) को तलब किया है।

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.30 लाख में Call On: 09314188188

शुक्रवार को पर्यावरण मंत्री नबाम रेबिया ने परियोजना के निचले हिस्सों के नदी का निरीक्षण करने के बाद परियोजना के प्रमुख पी बर्मन के साथ एक बैठक की और अगले एक सप्ताह के भीतर इस क्षेत्र का दौरा कर परिस्थिति का आंकलन कर जवाब देने को कहा है। साथ ही नदी के बहाव में क्यों बदलाव आया और नदी के पानी के बहाव में पारिस्थितिकी पर प्रभाव पड़ने आदि पर जवाब देने को कहा है।

ज्ञात हो कि परियोजना की मरम्मत के लिए गत 09 फरवरी को इसे बंद कर दिया गया। नदी के पानी के बहाव में असमानता आने के बाद इसका प्रभाव जलीय जीवन पर बड़ी तेजी से हुआ है। पूरे बहाव क्षेत्र में नदी के किनारों पर मछलियों को भारी मात्रा में मृत अवस्था में पाई जा रही हैं। जबकि नदी पर निर्भर पालतू जानवर भी इलाके में नहीं जा रहे हैं। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

बैठक में नीपको अधिकारियों के पास मंत्री के सवालों का कोई जवाब नहीं था। अधिकारियों ने कहा कि इन तमाम बातों का अध्ययन किया जा रहा है। साथ ही इस बात की चिंता से उच्च अधिकारियों को अवगत कराया गया है।रेबिया ने कहा कि नीपको को अरुणाचल की सरकार और लोगों को समझाना होगा कि रखरखाव के लिए परियोजना को बंद करने से पहले आवश्यक उपाय क्यों नहीं किए गए। मंत्री ने नीपको अधिकारियों को जबाव देने के लिए एक सप्ताह का समय दिया है। 

More From national

Loading...
Trending Now
Recommended