संजीवनी टुडे

‘कृषि विज्ञान कांग्रेस सम्मेलन’ का हुआ आगाज, 17 देशों से आये 40 से अधिक वैज्ञानिक

संजीवनी टुडे 20-02-2019 16:51:13


नई दिल्ली। किसानों की आय को वर्ष 2022 तक दोगुना करने की दिशा में सरकार लगातार काम कर रही है। इस संकल्प को पूरा करने के लिए भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान भी शोध व कृषि में नवाचार को बढ़ाने की दिशा में काम कर रहा है। किसानों की आय बढ़े व कृषि के क्षेत्र में देश आत्मनिर्भर हो सके इसके लिए आज से राष्ट्रीय कृषि विज्ञान परिसर में ‘कृषि विज्ञान कांग्रेस सम्मेलन’ का आगाज हुआ। तीन दिनों तक चलने वाला यह आयोजन 23 फरवरी को समाप्त होगा।
 
भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) के महानिदेशक डॉ. त्रिलोचन महापात्रा ने बुधवार को बताया कि इस सम्मेलन में 'कृषि में क्रांति के लिए नवाचार' सहित कई विषयों पर चर्चा की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस विज्ञान कांग्रेस सम्मेलन का आयोजन भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान और राष्ट्रीय कृषि विज्ञान अकादमी (नास) ने संयुक्त रूप से कर रही है। महापात्रा ने कहा कि जिन विषयों को ध्यान में रखते हुए इस सम्मेलन का आयोजन कराया जा रहा है किसानों के लिए बहुत उपयोगी व प्रांसगिक हैं। इस सम्मेलन में कृषि संकट को कम करने और किसानों की आय बढ़ाने के बारे में भी चर्चा की जायेगी ।

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.30 लाख में Call On: 09314188188

महापात्रा ने कहा कि तीन दिवसीय इस कृषि विज्ञान कांग्रेस सम्मेलन में बागवानी फसल, पौध संरक्षण, आनुवांशिक सुधार, प्रकृतिक संसाधन, मूल्य संवर्धन, पशु विज्ञान, मत्स्य पालन, अभियांत्रिकी और सूचना प्रौद्योगिकी, समाजिक विज्ञान और कृषि शिक्षा सहित कई विषयों पर 32 तकनीकी सत्रों में चर्चा की जाएगी ।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

उल्लेखनीय है कि यह सम्मेलन हर दो साल में आयोजित होता है। इस सम्मेलन में करीब दो हजार वैज्ञानिक शामिल हो रहे हैं, जिनमें अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम, कनाडा, कोलंबिया, डेन्मार्क, ईथोपिया, फ्रांस, इंडोनेशिया, इटली, मेक्सिको, न्यूजीलैंड, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड और केन्या आदि 17 देशों से आये 40 से अधिक वैज्ञानिक शामिल हैं।
 

More From national

Trending Now