संजीवनी टुडे

कई दिनों बाद JNU में स्थिति सामान्य, पंजीकरण जारी

संजीवनी टुडे 14-01-2020 19:51:07

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में नकाबपोश लोगों के हिंसक हमले की घटना के बाद कई दिनों तक तनाव पूर्ण स्थिति रहने के उपरांत आज मंगलवार से परिसर में स्थिति सामान्य हो गई और छात्र लौट आये तथा अकादमिक गतिविधियां शुरू हो गई।


नई दिल्ली। जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में नकाबपोश लोगों के हिंसक हमले की घटना के बाद कई दिनों तक तनाव पूर्ण स्थिति रहने के उपरांत आज मंगलवार से परिसर में स्थिति सामान्य हो गई और छात्र लौट आये तथा अकादमिक गतिविधियां शुरू हो गई। इस बीच जेएनयू शिक्षक संघ कुलपति एम जगदीश कुमार को हटाने पर अड़े हुआ है और उन्होंने पत्रकारों से कहा कि कुलपति को हटाने से ही विश्वविद्यालय में टकराव दूर होगा और समस्या का स्थायी समाधन निकलेगा। मानव संसाधन विकास मंत्रालय और छात्रों के बीच दो दौर की वार्ता के बाद फीस की समस्या कल सुलझ जाने के बाद परिसर में अब पठन पाठन शुरू हुआ ओर नया सेमेस्टर प्रारम्भ हो गया। 

यह खबर भी पढ़ें: दिल्ली विधानसभा चुनाव: अधिसूचना जारी, पांच उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र दाखिल किये

छात्रों का पंजीकरण आज भी जारी रहा। कल इसका अंतिम दिन है। जेनयू प्रशासन द्वारा आज यहाँ जारी एक विज्ञपति के अनुसार एम फिल और पीएचडी के छात्रों का वाईवा और इंटरव्यू भी हुए। छात्रों ने अपना शोध एवम अनुसंधान कार्य भी आज से शुरू कर दिया। परिसर में कई अंतरराष्ट्रीय विद्वानों का आगमन हुआ ।

यह खबर भी पढ़ें: दिल्ली- मुंबई के बाद बेंगलुरु में भी विरोध के सुर, ‘फ्री कश्मीर’, ‘नो CAA, NRC’ जैसे नारों के साथ विरोध

गौरतलब है कि कल मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने छात्रों से अपील की थी कि वे परिसर को सामान्य एवम शांत बनाये। जेएनयू प्रशासन ने भी यह अपील छात्रों और शिक्षकों से की थी। जेएनयू शिक्षक संघ ने कुलपति के खिलाफ शिकायतों का पुलिंदा लिखित तौर पर मंत्रालय को दिया है ।उसमें उसने कुलपति को हटाने के सात कारण गिनाए हैं और आरोप लगाया है कि जब से कुलपति आये हैं वे गैर लोकतांत्रिक ढंग से काम कर रहे हैं और नियमों की लगातार अवहेलना कर रहे है ,मनमाने तरीके से नियुक्तियां कर रहे हैं । इसमें यह भी कहा गया है कि वह शिक्षकों को परेशान कर रहे हैं उनकी पदोन्नति नही कर रहे हैं और बकाया राशि नही दे रहे हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended