संजीवनी टुडे

उन्नाव/ गैंगरेप पीड़िता को जिंदा जलाने के बाद दौड़ी 1 किलोमीटर, 90% जलने पर खुद ने किया पुलिस को फ़ोन

संजीवनी टुडे 06-12-2019 19:01:00

उन्होंने बताया कि पीड़िता को जिंदा जलाए जाने के बाद वह करीब एक किलोमीटर तक दौड़कर मेरे पास मदद के लिए आई थी। बाद में उसके फोन से पीड़िता ने स्वयं 100 नंबर पर डायल कर पुलिस को घटना की सूचना दी, तब जाकर पीआरवी और पुलिस मौके पर पहुंची।


उन्नाव। उत्तरप्रदेश के उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता को जिंदा जलाने के मामले में एक चश्मदीद रविंद्र प्रकाश सामने आया है। उन्होंने बताया कि पीड़िता को जिंदा जलाए जाने के बाद वह करीब एक किलोमीटर तक दौड़कर मेरे पास मदद के लिए आई थी। बाद में उसके फोन से पीड़िता ने स्वयं 100 नंबर पर डायल कर पुलिस को घटना की सूचना दी, तब जाकर पीआरवी और पुलिस मौके पर पहुंची।

यह भी पढ़े: सुरक्षा बलों के द्वारा चलाए गए अभियान से मजबूर होकर 180 आतंकवादियों ने किया आत्मसमर्पण

After burning the gang rape victim alive she ran a kilometer calling the number 100 herself and the police

दरअसल, गैंगरेप पीड़िता को जिंदा जलाने के मामले में रविंद्र प्रकाश ने बताया कि वह वहां से दौड़ती हुई चली आ रही थी और बचाओ-बचाओ चिल्ला रही थी। जब हमने पूछा कौन तो उसने अपनी पहचान बताई। रविंद्र कहते हैं, 'हम डर गए, और उसे चुड़ैल समझकर हम पीछे भाग गए और डंडा उठाया इस दौरान हमने कुल्हाड़ी लाओ, कुल्हाड़ी लाओ आवाज भी लगाई।' रविंद्र आगे बताते हैं, 'पहचान जानने के बाद भी हमारा डर कम नहीं हुआ और उससे दूर खड़ा रखा।

ravindre

 इसके बाद पीड़िता ने हमसे फोन मांगा और खुद ही 100 नंबर पर बात की, जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और उसे लेकर चली गई।' उधर, पुलिस ने इस मामले में 2 नामजद आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। पीड़िता के बयान के आधार पर आरोपियों को अभियुक्त बनाया गया है, उनके खिलाफ 307, 326, 506 धारा में केस दर्ज किया गया है। 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From crime

Trending Now
Recommended