संजीवनी टुडे

नागरिकता बिल पर BJP के बाद ओवैसी ने शिवसेना पर साधा निशाना, बताया अवसरवाद की राजनीति

संजीवनी टुडे 10-12-2019 21:53:12

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा पेश किये गए नागरिकता बिल पर कई नेता और पार्टियां विरोध कर रही हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने आज ट्वीट किया, यह बिल अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार कानू


नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा पेश किये गए नागरिकता बिल पर कई नेता और पार्टियां विरोध कर रही हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने आज ट्वीट किया, यह बिल अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार कानूनों और पाकिस्तान के साथ हुए द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन है। असदुद्दीन ओवैसी ने सोमवार को  विधेयक पर ऐतराज जताते हुए इसकी कॉपी को फाड़ कर फेंक दिया। इस पर कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ओवैसी वरिष्ठ सदस्य हैं और उन्होंने जो किया है वो सदन का अपमान है। भाजपा सदस्य पीपी चौधरी ने कहा कि ओवैसी ने संसद का अपमान किया है। 

यह खबर भी पढ़ें:​ अंपायर के फैसले का विरोध करने पर इस खिलाड़ी पर लगा 10 फीसदी जुर्माना, अश्विन हुए निराश

वही आज असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट करते हुए शिवसेना पर हमला बोलते हुए कहा भांगड़ा पॉलिटिक्स है। ओवैसी ने कहा कि वे कॉमन मिनिमम प्रोग्राम में 'सेक्युलर' शब्द लिखते हैं। लेकिन यह बिल आर्टिकल 14 और सेक्युलरिज्म के खिलाफ है। ओवैसी इसे अवसरवाद की राजनीति बताया। बता दें शिवसेना ने राज्यसभा में समर्थन देने से अब इनकार कर दिया है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि जब तक चीजें साफ नहीं हो जाती वो आगे इस बिल पर केंद्र सरकार का समर्थन नहीं करेंगे। 

उन्होनें कहा, जो कोई असहमत होता है, वह देहद्रोही होता है, यह (बीजेपी) उनका भ्रम है। यह एक भ्रम है कि केवल बीजेपी को देश की परवाह है। हमने नागरिकता संशोधन बिल को लेकर सुझाव दिया है। हम चाहते हैं कि इसे राज्यसभा में गंभीरता से लिया जाए। ये शरणार्थी कहां रहेंगे? किस राज्य में रहेंगे? यह सब स्पष्ट किया जाना चाहिए। 

यह खबर भी पढ़ें:​ Birthday Special: हिंदुस्तान में दो ही चीज देखने लायक हैं- एक ताजमहल दूसरा दिलीप कुमार........

शिवसेना प्रमुख ने कहा, जब तक नागरिकता बिल पर चीजें साफ नहीं हो जातीं तब हम समर्थन नहीं करेंगे। गृह मंत्री ने सभी सवालों के जवाब देने की कोशिश की, जो मैंने सुना है। उन्होंने हालांकि हमारे सवालों का जवाब नहीं दिया। जब तक हमें अपने सवालों के जवाब नहीं मिल जाते, तब तक हम उन्हें राज्यसभा में समर्थन नहीं देंगे।

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended