संजीवनी टुडे

एडिशनल चीफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल ने 27 अप्रैल को फैसला सुनाने का दिया आदेश

संजीवनी टुडे 23-04-2019 01:45:00


नई दिल्ली। दिल्ली की राऊज एवेन्यू कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तुलना शिवलिंग पर बैठे बिच्छूे के बयान के मामले में कांग्रेस नेता शशि थरूर को समन जारी किया जाए या नहीं इस पर फैसला सुरक्षित रख लिया है। एडिशनल चीफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल ने 27 अप्रैल को फैसला सुनाने का आदेश दिया।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

मानहानि की ये शिकायत दिल्ली भाजपा नेता राजीव बब्बर ने दर्ज कराई है। 16 नवंबर,2018 को कोर्ट ने इस मामले में संज्ञान लिया था। राजीव बब्बर ने अपनी याचिका में कहा है कि शशि थरूर ने बेंगलुरु में एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को शिवलिंग का बिच्छू कहा था, जिसे न हाथ से हटाया जा सकता है और न ही चप्पल से। याचिका में कहा गया है कि शशि थरूर के इस बयान से करोड़ों लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं। 

राजीव बब्बर ने कहा कि मैं शिव का भक्त हूं और शशि थरूर के बयान ने असंख्य शिवभक्तों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया है। याचिका में शशि थरूर के बयान को असहनीय बताया गया है। याचिका में शशि थरूर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा-499 और 500 के तहत कार्रवाई करने की मांग की गई है। 

MUST WATCH &SUBSCRIBE 

उल्लेखनीय है कि शशि थरूर ने हाल ही में बेंगलुरु में लिटरेचर फेस्टिवल में कहा था कि आरएसएस के एक व्यक्ति ने उनसे कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शिवलिंग पर चढ़े बिच्छू की तरह हैं, जिन्हें न हाथ लगाया जा सकता है और न चप्पल।

 

More From national

Trending Now
Recommended