संजीवनी टुडे

कृषि और ग्रामीण क्षेत्रों में देश को किसी भी संकट से निकालने की क्षमता: तोमर

संजीवनी टुडे 01-08-2020 17:38:00

केंद्रीय कृषि व किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कृषि और ग्रामीण क्षेत्रों में देश को किसी भी संकट से निकालने की अंतर्निहित क्षमताएं हैं।


नई दिल्ली। केंद्रीय कृषि व किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कृषि और ग्रामीण क्षेत्रों में देश को किसी भी संकट से निकालने की अंतर्निहित क्षमताएं हैं। उन्होंने कोरोनो वायरस महामारी के बावजूद अच्छी फसल और खरीफ की फसल बुवाई के संचालन पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि भविष्य में भी ग्रामीण भारत और कृषक समुदाय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के एक भारत के लक्ष्य को हासिल करने में अग्रणी भूमिका निभाएगा। 

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के कृषि विज्ञान केंद्रों (केवीके) की तीन दिवसीय जोनल कार्यशाला के पूर्ण सत्र को संबोधित करते हुए तोमर ने कहा कि इतिहास इस बात का गवाह है कि देश की किसान और ग्रामीण अर्थव्यवस्था कभी किसी विपत्ति के आगे नहीं झुकी। प्रधान मंत्री द्वारा दिया गया नारा "स्थानीय के लिए मुखर" भी ग्रामीण विकास के साथ गहराई से जुड़ा हुआ है।

केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि देश में कृषि विकास की देखरेख में केवीके और कृषि वैज्ञानिकों की महत्वपूर्ण भूमिका है। यह महत्वपूर्ण है कि कृषि उत्पादन बढ़ता है और युवाओं को कृषि को आजीविका के साधन के रूप में लेने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। केवीके को कृषि प्रथाओं पर छोटे और सीमांत किसानों का मार्गदर्शन करना चाहिए जो उन्हें छोटे लैंड होल्डिंग से भी अधिकतम लाभ प्राप्त करने में मदद करते हैं। आईसीएआर और केवीके को किसानों को अपील करने वाले कृषि विकास के क्षेत्रवार मॉडल विकसित करने चाहिए। 

तोमर ने जैविक और प्राकृतिक खेती के महत्व पर जोर देते हुए कहा कि ये न केवल मनुष्यों और जानवरों के स्वास्थ्य के लिए, बल्कि एक स्वस्थ मिट्टी और स्वच्छ पर्यावरण के लिए और निर्यात बढ़ाने और कृषि को लाभदायक बनाने के लिए आवश्यक हैं। मिट्टी के स्वास्थ्य को बनाए रखना और जलवायु परिवर्तन से निपटना वैज्ञानिकों के सामने महत्वपूर्ण चुनौतियां हैं।

यह बताते हुए कि मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बड़ी जनजातीय आबादी है, जो पहले से ही रासायनिक उर्वरकों और कीटनाशकों के उपयोग के बिना प्राकृतिक खेती कर रहे हैं, मंत्री ने कृषि वैज्ञानिकों से इस अभ्यास को बेहतर बनाने में मदद करने का आह्वान किया, ताकि जैविक खेती को और बढ़ावा मिले और पशु पालन हो।

यह खबर भी पढ़े: अंकिता लोखंडे का बड़ा खुलासा, सुशांत के पिता के पास नहीं था उनका नया नंबर, मुझे फोन करके कहा था कि मेरी बात करा दो

यह खबर भी पढ़े: हिमाचल प्रदेश में अपने परिवार के साथ इंजॉय करती दिखीं रुबीना दिलाइक, देखें PICS

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended