संजीवनी टुडे

सिर्फ इशारो से होती है बातें है इस गांव में, सात पीढियो से चल रहा रिवाज

संजीवनी टुडे 29-11-2016 09:23:52

Isharo is just the things in the village running seven Pidio custom

इंडोनेशिया। इंडोनेशिया में एक गांव हैं बेंगकला। इस गांव के लोग पिछली सात पीढ़ियों से मुंह से बोलने की बजाए हाथों के इशारों से ही बातें करते हैं। इस गांव के लोगों को डीफ विलेज के नाम से भी जाना जाता है। साथ ही हैरान करने वाली बात ये भी है कि गांव के रहने वाले ही नहीं, बल्कि यहा कं कई ऑफिस में भी इसी तरह से इंडोनेशिया में एक गांव हैं बेंगकला। इस गांव के लोग पिछली सात पीढ़ियों से मुंह से बोलने की बजाए हाथों के इशारों से ही बातें करते हैं। इस गांव के लोगों को डीफ विलेज के नाम से भी जाना जाता है।

ऑफिस में भी इसी तरह से हाथों के इशारों से ही कार्य
साथ ही हैरान करने वाली बात ये भी है कि गांव के रहने वाले ही नहीं, बल्कि यहा कं कई ऑफिस में भी इसी तरह से हाथों के इशारों से ही कार्य चलता है। बाहरी लोग यहां कम ही आते हैं। इसलिए स्थानीय लोग ही यहा की सारी व्यवस्था संभालते हैं। बताया जाता है कि इस सांकेतिक भाषा को काटा कोलोक कहा जाता है। यह सांकेतिक भाषा सैकड़ों साल पुरानी है। इस गांव के अधिकतर लोग बोलने और सुनने में सझम नही हैं और ये समस्या यहां सामान्य से पंद्रह गुना ज्यादा है। यहां के बच्चे जन्म से ही सुनने और बोलने की बीमारी से ग्रस्त होते हैं। यहां कि भौगोलिक स्थिति को इसका कारण बताया गया है।

यह भी पढ़े : लापरबाही के कारण बिल्ली की मौत, महिला ने डॉक्टर पर ठोका ढाई करोड़ का मुकदमा..!

यह भी पढ़े : 68 की उम्र में कर रहा है 9वीं शादी वो भी 28 साल की लड़की से ... ऐसे शुरू हुई कहानी

यह भी पढ़े: गर्लफ्रैंड के गालों के रंग से जानिए वो कितनी लकी है आपके लिए..!

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

More From ajab-gjab

loading...
Trending Now
Recommended