संजीवनी टुडे

सोनिया गाँधी: क्या 2019 के राष्ट्रपति चुनाव में बन पाएगा 'महागठबंधन'?

संजीवनी टुडे 16-07-2017 20:54:35

Sonia Gandhi Will the Great Alliance be made in the 2019 presidential election

नई दिल्ली। विपक्षी दलों के नेता कांग्रेस के नेतृत्व में महागठबंधन बनाने की तैयारी में हैं। हालांकि राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष के कई बड़े नेता एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का साथ देने की बात कर चुके हैं, ऐसे में सवाल उठने लगे हैं कि क्या 2019 लोकसभा चुनाव से पहले क्या विपक्ष महागठबंधन बना पाएगा? पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व उड़ीसा के सीएम नवीन पटनायक और अब उत्तर प्रदेश की राजनीति के कद्दावर चेहरा मुलायम सिंह यादव और शिवपाल सिंह यादव ने रामनाथ कोविंद को समर्थन देने का मन बना लिया है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने वर्तमान माहौल पर गहरी ङ्क्षचता व्यक्त करते हुए कहा कि देश का संविधान तथा कानून खतरे में है और विपक्षी दलों के राष्ट्रपति तथा उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार हमें इस खतरे से बाहर निकालने में सक्षम साबित होंगे।

सोनिया गांधी ने राष्ट्रपति चुनाव की पूर्वसंध्या पर विपक्षी दलों के सांसदों की बैठक में विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार मीरा कुमार और उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार गोपालकृष्ण गांधी का परिचय कराते हुए कहा कि दोनों नेता अनुभवी और संविधान के जानकार हैं और वे देश को इस खतरे से बाहर निकाल सकते हैं और देश के श्रेष्ठ राष्ट्रपति तथा श्रेष्ठ उपराष्ट्रपति सिद्ध हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान में गंभीर असंतोष का दौर चल रहा है। देश का भविष्य और संवैधानिक मूल्य दांव पर हैं और उनकी रक्षा करना इन सिद्धांतों को मानने वालों की जिम्मेदारी है।

सोनिया गाँधी ने कहा भले ही इस चुनाव में आंकड़े हमारे पक्ष में नहीं हों लेकिन लड़ाई पूरी ताकत के साथ जरूर लड़ी जानी चाहिए। भारत को उन लोगों की कृपा पर नहीं छोड़ सकते जो देश पर संकीर्ण विचारधारा और फूट डालने वाली सांप्रदायिक सोच थोपना चाहते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि विपक्ष के सांसदों की यह बैठक न सिर्फ देश के बहुलतावादी लोकतंत्र की रक्षा के लिए बल्कि विपक्ष की एकता और साझा सोच को प्रदर्शित करती है। विशिष्ट उम्मीदवारों के लिए विपक्षी दलों के सांसदों की मौजूदगी इस बात को सुनिश्चित करती है कि समावेशी, सहनशील और बहुलतावादी भारत के लिए सही मायने में यह एक संघर्ष है और इस संघर्ष से हम पीछे नहीं हटेंगे।

राष्ट्रपति चुनाव को विचारधारा की लड़ाई बताते हुए सोनिया ने कहा, 'यह चुनाव विचारधारा और मूल्यों की लड़ाई का प्रतिनिधित्व करता है। वक्त की मांग है कि इस चुनाव में अंतरात्मा की आवाज पर वोट हो ताकि उस भारत को बचाया जा सके जिसके लिए महात्मा गांधी और स्वतंत्रता सेनानियों की पीढ़ियों ने लड़ा। हजारों लोगों ने एक साथ मिलकर जिसके लिए संघर्ष किया।'

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

 

 

More From national

loading...
Trending Now
Recommended