संजीवनी टुडे

प्रद्युम्न हत्याकांड: आरोपी छात्र ने मुकरते हुए कहा- CBI के कहने पर किया था जुर्म कबूल

संजीवनी टुडे 14-11-2017 15:39:24

Pradyumna massacre The accused student said while retaining the crime on the say of the CBI

चडीगढ़ गुरुग्राम के चर्चित प्रद्युम्न हत्याकांड में रोज नए मोड़ आता नजर आ रहा है, अब सीबीआई द्वारा आरोपी बनाए गए छात्र ने आरोप लगाया है कि जांच एजेंसी ने उसे टॉर्चर कर जबरन जुर्म कबूल करवाया है। गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुई प्रद्युम्न की हत्या का मामला सुलझने के बजाए उलझता जा रहा है। अब CBI द्वारा आरोपी बनाए गए 11वीं के छात्र के बयान से इस केस में एक नया मोड़ आ गया है। आरोपी छात्र ने सीबीआई को दिए अपने पहले के बयान से मुँह मोड़ते हुए जांच एजेंसी पर ही गंभीर आरोप लगा दिया है। 

यह भी पढ़े: गोरखपुर में अलगटपुर बांध टूटने से 4 जिलों में घुसा पानी देखिए VIDEO

13 नवंबर को आरोपी छात्र की काउंसिलिंग और उसका बयान लेने पहुंची बाल सुरक्षा एवं संरक्षण अधिकारी के सामने आरोपी ने कहा, “मैंने प्रद्युम्न की हत्या नहीं की है। सीबीआई के कहने पर मैंने यह जुर्म कबूल किया है। ”सीपीडब्ल्यूओ रेनू सैनी के सामने आरोपी छात्र ने आरोप लगाया कि सीबीआई ने उससे कहा कि यह जुर्म उसे कबूल करना पड़ेगा, ऐसा नहीं करने पर उसके भाई की हत्या कर दी जाएगी। 

छात्र ने कहा, “मैं अपने भाई से अधिक प्यार करने के कारण में उसे मरते हुए नहीं देख सकता था। इसलिए सीबीआई वालों ने जैसा कहा, मैेंने वैसा ही किया।” सीबीआई अधिकारी और सीपीडब्ल्यूओ की रेनू सैनी ने आरोपी छात्र से 13 नवंबर को ऑब्जर्वेशन होम जाकर मुलाकात की थी और करीब दो घंटे तक उससे बात की थी। 13 नवंबर को सीबीआई की मौजूदगी में आरोपी छात्र से उसके माता-पिता और भाई की मुलाकात कराई गई। तीनों एक घंटे तक आरोपी छात्र के पास रहे और इस दौरान उसकी मां उससे लिपटकर रोती रही।

प्रद्युम्न मर्डर केस, खुलासा, सीबीआई, जांच, गुरुग्राम पुलिस, सबूत, छेड़छाड़, Pradyumna Murder case, disclosure, CBI, investigation, Gurujram police, evidence, tampering

यह भी पढ़े: वीडियो: एक पैर से विकलांग होने के बावजूद भी देखें इस शख्स की मेहनत, रह जाएंगे हैरान

गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर को 7 साल के प्रद्युम्न ठाकुर नाम के छात्र की हत्या कर दी गई थी। प्रद्युम्न का शव स्कूल के टॉयलेट में मिला था, इस मामले की शुरुआत में जांच करने वाली गुरुग्राम पुलिस ने हत्या के आरोप में स्कूल के एक बस कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार किया था। हालांकि बाद में बस कंडक्टर की जब कोर्ट में पेशी हुई तो वह अपने बयान से मुकर गया और उसने पुलिस पर आरोप कबूल करने के लिए दबाव बनाने का आरोप लगाया था। बाद में जांच सीबीआई को सौंपी गई थी जिसने स्कूल के ही 11वीं के एक छात्र को इस मर्डर केस में आरोपी बनाया है।

 

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

More From national

loading...
Trending Now
Recommended