संजीवनी टुडे

राजनाथ से की महबूबा ने मुलाकात, कहा-कश्मीर समस्या पर हाथ सेंक रही है बाहरी ताकते

संजीवनी टुडे 15-07-2017 19:23:58

Mehbooba met RajnathsaiKashmir is gripping the problem

नई दिल्ली। कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति और अमरनाथ तीर्थ यात्रियों की सुरक्षा को लेकर गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की। दोनों नेताओ के बीच लगभग आधे घंटे तक चली बैठक में मुख्यमंत्री ने गृह मंत्री को कश्मीर घाटी में शांति बनाए रखने के लिए उठाए गए कदमों के बारे में जानकारी दी। साथ ही कहा कि अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाए गए थे।

मुफ्ती ने कहा कि कश्मीर में हम लॉ एंड ऑर्डर की लड़ाई नहीं लड़ रहे, जब तक पूरा मुल्क और राजनीतिक पार्टियां साथ नहीं देते तब तक ये जंग नहीं जीत सकते। अमरनाथ यात्रा पर हमले का मकसद सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ना था। मैं गृहमंत्री को धन्यवाद देती हूं कि उन्होंने कठिन समय में हमारा साथ दिया। उन्होंने कहा कि जब हमने जीएसटी पास किया तब राष्ट्रपति ने हमें आश्वासन दिया कि धारा 370 का खास ख्याल रखा जाएगा। धारा 370 हमारे जज्बात के साथ जुड़ी है। गृहमंत्री से मुलाकात के बाद महबूबा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि ये जो लड़ाई हो रही हैं जिसमें बाहर की ताकतें शामिल हैं। अब चीन ने भी इसमें हाथ डालना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है, कि राजनीतिक पार्टियां एकजुट हो गयीं हैं। और कश्मीर की समस्या का  एक साथ मिलकर मुकाबला कर रही हैं।

मुफ्ती ने कहा कि कश्मीर में हम लॉ एंड ऑर्डर की लड़ाई नहीं लड़ रहे, जब तक पूरा मुल्क और राजनीतिक पार्टियां साथ नहीं देते तब तक ये जंग नहीं जीत सकते. अमरनाथ यात्रा का मकसद सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ना था, मैं गृहमंत्री को धन्यवाद देती हूं कि उन्होंने कठिन समय में हमारा साथ दिया. उन्होंने कहा कि जब हमने जीएसटी पास किया तब राष्ट्रपति ने हमें आश्वासन दिया कि धारा 370 का खास ख्याल रखा जाएगा, धारा 370 हमारे जज्बात के साथ जुड़ी है।

अधिकारियों ने बताया कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद विरोधी अभियान में लगे सुरक्षा एजेंसियों को पूरी ताकत के साथ सुरक्षा योजना लागू करने के लिए कहा गया है। अब तक, 1.86 लाख से अधिक तीर्थयात्रियों ने अधिक ऊंचाई पर स्थित शिवलिंग के दर्शन किए हैं। तीर्थयात्रा मार्गों पर सुरक्षा के लिए राज्य पुलिस बलों और सेना की दो बटालियनों के अतिरिक्त 21,000 अर्धसैनिक कर्मियों को तैनात किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि पिछले साल की तुलना में इस साल 9500 अधिक जवानों की तैनाती की गई है। जम्मू-कश्मीर में आतंकरोधी अभियानों में शामिल सुरक्षा एजेंसियों से कहा गया है कि वे सुरक्षा योजनाओं को पूरी ताकत और उर्जा के साथ लागू करें. अब तक 1.86 लाख से अधिक श्रद्धालु हिमालय में स्थित पवित्र गुफा के दर्शन कर चुके हैं।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

More From national

loading...
Trending Now
Recommended