संजीवनी टुडे

इजराइल से मिलेगा MRSAM सिस्टम, दुश्मनो के लिए खतरनाक, कई खूबियों से लैस

संजीवनी टुडे 16-07-2017 21:35:47

MRSAM system from Israel will get dangerous dangerous for the enemy equipped with many merits

नई दिल्ली। भारत ने इजरायल से सरफेस से हवा मे टारगेट पर वॉर करने वाली मिसाइल प्रणाली खरीदने के लिए 2 अरब डॉलर के सौदे किए है जो इजरायल के रक्षा उद्योग के इतिहास में सबसे बड़ा अनुबंध है, एमआरएसएएम मिसाइल प्रणाली सेना को 70 किमी तक की सीमाओं पर वॉर करने में सक्षम है। एमआरएसएएम कार्यक्रम के लिए एक अनुबंध फरवरी 2009 में हस्ताक्षर किया गया था। भारतीय वायुसेना 450 एमआरएसएएम और 18 फायरिंग इकाइयों को 2 अरब डॉलर से अधिक की कीमत पर खरीदेगी।

 

भारतीय वायुसेना ने 16 फायरिंग इकाइयों और संबंधित अग्नि नियंत्रण प्रणालियों की निगरानी प्रणाली सहित एक एमआरएसएएम रेजिमेंट का आर्डर दिया था। आईएआई और डीआरडीओ ने जुलाई 2016 में भारत के ओडिशा तट से एकीकृत टेस्ट रेंज में एमआरएसएएम हथियार प्रणाली के साथ तीन फ्लाइट जेट का भी परीक्षण किया, जिसमें सभी मिसाइल घटकों को मान्य करार दिया गया। मिसाइल ने सभी तीन परीक्षणों में सफलतापूर्वक गतिशील हवाई लक्ष्य को रोक दिया।

प्रत्येक एमआरएसएएम हथियार प्रणाली के तहत एक कमांड और नियंत्रण प्रणाली, एक ट्रैकिंग रडार, मिसाइल और मोबाइल लांचर सिस्टम शामिल हैं। यह हथियार 4.5 एम-लंबा है, लगभग 276 किग्रा वजन का है, नियंत्रण और गतिशीलता के लिए कनार्ड्स और फिन से लैस है। एमआरएसएएम मिसाइल एक उन्नत सक्रिय रडार रेडियो आवृत्ति (आरएफ) खोजक, उन्नत घूर्णन चरणबद्ध सरणी रडार और एक द्विदिश डेटा लिंक से लैस है। मिसाइल के जस्ट सामने वाले हिस्से में स्थित आरएफ खोजक तथा सभी मौसम स्थितियों में लक्ष्य को भेदने के लिए उपयोगी है।

एमआरएसएएम हथियार प्रणाली सतह-से-वायु मिसाइल डीआरडीओ द्वारा विकसित एक दोहरे-पल्स ठोस प्रणोदन प्रणाली द्वारा संचालित है। प्रणोदन प्रणाली, एक जोर वेक्टर नियंत्रण प्रणाली के साथ, मिसाइल को अधिकतम 2 मच की गति पर स्थानांतरित करने की अनुमति देता है। हथियार में 70km की सीमाओं पर एक साथ कई लक्ष्य संलग्न करने की क्षमता है।

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

More From national

loading...
Trending Now
Recommended