संजीवनी टुडे

राष्ट्रपति चुनाव में राजस्थान से कोविंद को 171 आैर मीरा को 28 विधायकों के समर्थन

संजीवनी टुडे 17-07-2017 23:16:48

नई दिल्ली। राष्ट्रपति पद के चुनाव को लेकर राजस्थान विधानसभा में भी मतदान सुबह 10 बजे शुरू हो हुआ। 20 जुलाई को चुनावो के वोटों की गिनती होगी। इस बार राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए की तरफ रामनाथ कोविंद और विपक्ष की तरफ से मीरा कुमार मैदान में हैं। देश के मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल आगामी 24 जुलाई को पूरा होने जा रहा है। नए राष्ट्रपति 25 को कार्यभार संभालेंगे। संसद में दोनों सदनों के सांसद 23 जुलाई को राष्ट्रपति मुखर्जी को विदाई देंगे।

देश के नए राष्ट्रपति के लिए विभिन्न राज्यों के साथ राजस्थान प्रदेश के विधायक भी सोमवार को सुबह 10 से शाम 5 बजे तक विधानसभा में मतदान करेंगे। जयपुर में 199 विधायक मतदान करेंगे। अशोक गहलोत गुजरात में अपना वोट डालेंगे। एनडीए ने राष्ट्रपति पद पर बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद और यूपीए ने पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार को उम्मीदवार बनाया है।

यह भी पढ़े: मोदी को नहीं है गुलदस्ते की जरूरत, एक फूल और किताब से करे स्वागत: गृह मंत्रालय

मतदान की प्रक्रिया को लेकर भाजपा ने रविवार को अपने सभी विधायकों को प्रशिक्षण दिया। संसदीय कार्य मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने प्रदेश के सभी विधायकों को बताया कि मतपत्र में पहले नंबर पर मीरा कुमार और दूसरे नंबर पर रामनाथ कोविंद का नाम है। मतपत्र पर किसी तरह का कोई निशान नहीं बनाया जाए और आप उसी पेन का इस्तेमाल करें, जो चुनाव आयोग देगा। साथ ही सबको यह भी बताया गया कि सभी विधायक सुबह दस बजे तक विधानसभा में हां पक्ष लॉबी में पहुंच जाएं। भाजपा दाल ने तय किया है कि प्रदेश के सभी मंत्री चार से पांच विधायकों को अपने साथ ले जाकर वोट डलवाएंगे, जिससे किसी तरह की परेशानी ना हो। सभी को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि कोई भी आप वोट दिखाकर नहीं दे है जो देना है गुप्त में देना है। इसलिए राज्यसभा चुनाव की तरह कोई गलती ना की जाए। सही तरीके से वोट डाला जाए।

सूत्रों की माने तो भाजपा को पूर्ण विश्वास है कि राजस्थान में कोविंद के समर्थन में कम से कम 171 वोट पड़ेंगे। वहीं कांग्रेस को विश्वास है कि मीरा कुमार के पक्ष में 28 वोट डाले जाएंगे। राजपा और जमींदारा पार्टी के छह विधायक और चार निर्दलीय रामनाथ कोविंद को वोट देने के लिए पहले ही समर्थन दे चुके हैं। उधर, कांग्रेस के पास 24 तो खुद के विधायक हैं, जबकि कांग्रेसी दावा किया हैं कि दो निर्दलीय विधायक उनके साथ हैं, जबकि बसपा के दो सदस्य भी यूपीए उम्मीदवार के साथ हैं। जिन 17 दलों ने मीरा कुमार को समर्थन दे रखा है, बसपा इन दलों में शामिल है।

94 प्रतिशत सांसदों के वोट
सांसद क्षेत्र के अंदर प्रदेश में 35 वोट है। जिनमे 25 लोकसभा और 10 राज्यसभा सदस्य हैं। प्रदेश में लोकसभा के सभी सदस्य भाजपा के हैं और राज्यसभा के दस में से आठ भाजपा के हैं। एेसे में भाजपा के पास प्रदेश से 94 प्रतिशत सांसदों के वोट हैं। वहीं, कांग्रेस के खाते में मात्र दो ही सांसद है, जो इस समय राज्यसभा में है। सांसद अपना वोट सोमवार को दिल्ली में ही डालेंगे।

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

sanjeevni app

More From national

Trending Now