संजीवनी टुडे

विमुद्रीकरण के कारण एक बार में नहीं निकाल पाएंगे पूरा वेतन !

संजीवनी टुडे 29-11-2016 19:12:05

Demonetization not be withdrawn once the full salary

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की विमुद्रीकरण योजना के मद्देनजर भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा नकदी निकासी की सीमा तय किये जाने से दिसम्बर के पहले सप्ताह में वेतनभोगी लोगों को नकदी की समस्या हो सकती है। आरबीआई ने बैंक से पूरा वेतन एक बार में निकालने की छूट भी नहीं दी है। 

आमतौर पर सरकारी व अन्य निजी कंपनियों में नौकरी करने वाले अधिकांश लोगों की तनख्वाह मास के पहले सप्ताह में बैंक खातों में आती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ नवम्बर को जब 500 और 1000 रूपये के पुराने नोट बंद करने की घोषणा की थी। उस समय तक ऐसा एक बड़ा वर्ग बैंक एटीएम से अपना वेतन निकाल कर बच्चों की स्कूल फीस, किस्त व राशन आदि जैसे जरूरी खर्चों का भुगतान कर चुका था। 

लेकिन एक दिसम्बर को वेतन का दिन नजदीक आ रहा है। ऐसे में उन लोगों को समस्या हो सकती है जिनका वेतन बैंक के माध्यम से आता है। केंद्र सरकार ने सरकारी कर्मचारियों को दस हजार सेलरी एडवांस का विकल्प दिया था लेकिन निजी कंपनियों में काम करने वालों को ऐसी कोई छूट नहीं मिली। सरकार ने वेतनभोगी लोगों की निकासी सीमा से कोई छूट भी नहीं दी है। 

रिजर्व बैंक ने एक सप्‍ताह में केवल 24 हजार रूपये तक निकालने की सीमा तय कर रखी है| इसलिए 24 हजार से अधिक वेतन वाले लोग अपना वेतन एक बार में नहीं निकाल सकेंगे। फिर दूसरे सप्‍ताह वे 24 हजार रुपये की सीमा तक वेतन ही निकाल सकेंगे।

यह भी पढ़े: नाक में क्यों होते है दो छेद? जाने वजह

यह भी पढ़े: नोटबंदी के बीच आईएएस अफसरों ने सिर्फ 500 रूपये में रचाई शादी

यह भी पढ़े: ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

More From national

loading...
Trending Now
Recommended