संजीवनी टुडे

एक ही साथ एक बेटा डिप्टी कलेक्टर बना, दूसरा नायब तहसीलदार तो बहू डीएसपी !

संजीवनी टुडे 29-11-2016 20:10:21

A son with the same deputy collector DSP second Naib

भोपाल। एमपी पीएससी में एक ही परिवार के तीन सदस्यों ने एक साथ चयनित होकर अनोखा कीर्तिमान बनाया है। बड़ा भाई पीएससी की टॉप थ्री रैंक में आया है, जिसे डिप्टी कलेक्टर बनने का मौका मिलेगा। छोटे भाई का चयन नायब तहसीलदार के पद पर हुआ है और उसकी पत्नी डिप्टी एसपी बनने जा रही है। यह अनोखा परिवार हनुमना तहसील के करह गांव का निवासी है। यहां के एडवोकेट रामलखन शर्मा के दो बेटे और बहू मप्र. लोक सेवा आयोग की परीक्षा में एक साथ सलेक्ट हुए हैं। उनके दूसरे नंबर के पुत्र नीलेश शर्मा तीसरे रैंक पर चयनित होकर डिप्टी कलेक्टर बनेंगे। 

उनके छोटे बेटे शैलेंद्र बिहारी शर्मा का नायब तहसीलदार के पद पर चयन हुआ है। इतना ही नहीं, इस घर की बहू ने भी मर्दों के साथ कदम मिलाया है। दो वर्ष पहले शैलेंद्र बिहारी की पत्नी बनकर घर आईं ख्याति मिश्रा ने भी डिप्टी एसपी के लिए बाजी मारी है। नीलेश व शैलेंद्र दोनों ही इसे पिता की प्रेरणा का नतीजा मानते हैं। नीलेश वर्तमान में सागर में खाद्य सुरक्षा अधिकारी पद पर कार्यरत हैं। अपनी मेहनत के दम पर उन्होंने इससे पहले 2007 में पटवारी के पद पर, 2009 में फूड इंस्पेक्टर पद पर और वर्ष 2013 में वाणिज्यकर अधिकारी के पद पर चयन प्राप्त कर चुके हैं। 

नीलेश का तीसरे रैंक पर चयन समूचे जिले के लिए गर्व की बात है। सिविल सर्विसेज की तैयारी कराने वाले जीवेंद्र सिंह की मानें तो वर्ष 1990 के बाद से एमपी पीएससी के टॉप थ्री में जिले से किसी भी अभ्यर्थी का चयन नहीं हुआ है। तीसरे रैंक पर चयनित होकर नीलेश ने रीवा का नाम पूरे प्रदेश में रोशन किया है।

यह भी पढ़े: नाक में क्यों होते है दो छेद? जाने वजह

यह भी पढ़े: नोटबंदी के बीच आईएएस अफसरों ने सिर्फ 500 रूपये में रचाई शादी

यह भी पढ़े: ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

More From national

loading...
Trending Now
Recommended