संजीवनी टुडे

'पद्मावती' का सांसद ने किया पुरजोर विरोध, कहा- चंद पैसों के लिए इतिहास के साथ छेड़छाड़ शर्मनाक और घृणित कार्य

संजीवनी टुडे 06-11-2017 21:20:55

The MP of Padmavati strongly protested said  embarrassing and disgusting work for tampering with history

उज्जैन। भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' की रिलीज़ डेट जैसे-जैसे नजदीक आ रही हैं वैसे-वैसे मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। फिल्म का विरोध बढ़ता ही जा रहा हैं। हाल ही उमा भारती ने एक खुली चिट्ठी लिखकर फिल्म को लेकर अपना विरोध जताया था। उमा भारती ने कहा है कि जब आप किसी ऐतिहासिक तथ्य पर फिल्म बनाते हैं तो उसके फैक्ट को वायलेट नहीं कर सकते। उन्होंने फिल्म के निर्देशक से कहा है कि लोगों के मन में जो आशंकाएं हैं उनको दूर किया जाना चाहिए। लेकिन अब सांसद डॉ. चिंतामणि मालवीय ने भी 'पद्मावती' का विरोध किया हैं।

यह भी पढ़े: वीडियो: विदेश में फंसे भारतीय, लोगों से की मदद की गुहार

उनका कहना हैं की ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की गई हैं। मालवीय ने कहा कि मैं फिल्म पद्मावती का पुरजोर विरोध और बहिष्कार करता हूं। मेरे शुभचिंतकों से अनुरोध करता हूं कि इस फिल्म को बिल्कुल न देखें। फिल्म बनाकर चन्द पैसों के लालच के लिए इतिहास से छेड़छाड़ करना शर्मनाक और घृणित कार्य है। हर भारतीय नारी की आदर्श रानी पद्मावती जी पर भारतीयों को गर्व है। रानी पद्मावती ने अपने सतीत्व और देश-समाज की आन-बान-शान के लिए हजारों नारियों के साथ स्वयं को आग में झोंक दिया था।

उसे तोड़-मरोड़ कर दिखाना वास्तव में इस देश का अपमान है। भंसाली जैसे लोगों को कोई और भाषा समझ नहीं आती, इन जैसे लोगों को सिर्फ जूते की भाषा ही समझ आती है। यह देश रानी पद्मावती का अपमान नहीं सहेगा। हम गौरवशाली इतिहास के साथ छेडख़ानी भी बर्दाश्त नहीं कर सकते। अलाउद्दीन खिलजी के दरबारी कवियों द्वारा लिखे गए गलत इतिहास पर संजय लीला भंसाली ने पद्मावती फिल्म बना दी है। यह न सिर्फ गलत है, बल्कि निंदनीय है।

यह भी पढ़े: वीडियो: पत्रकार पर क्रोधित हुई राधे मां, सुनाई खरी खोटी

जिन फिल्मकारों के घरों की स्त्रियां रोज अपने शौहर बदलती हैं, वे क्या जानें जौहर क्या होता है? अभिव्यक्ति के नाम पर भंसाली की मानसिक विकृति नहीं सहन की जाएगी। फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली द्वारा निर्मित फिल्म पद्मावती का प्रदर्शन आगामी दिनों में होने जा रहा है। इस फिल्म में डायरेक्टर द्वारा रानी पद्मावती जिन्में माता सती का दर्जा है, उनके चरित्र के साथ छेड़छाड़ करते हुए इतिहास को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है। फिल्म में अलाउद्दीन खिलजी को रानी पद्मावती का प्रेमी बताकर उनके साथ आपत्तिजनक दृश्य दिखाए गए हैं, जो कि सही नहीं है, यह इतिहास के विपरीत है।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे ! 

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

More From entertainment

loading...
Trending Now
Recommended