संजीवनी टुडे

पाकिस्तान में खुदाई के दौरान मिली 1700 साल पुराने सोए हुए बुद्ध की मूर्ति

संजीवनी टुडे 17-11-2017 11:28:41

नई दिल्ली। पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के हरिपुर में खुदाई के दौरान 1700 साल पुराने सोए हुए बुद्ध की मूर्ति के अवशेष मिले हैं।  बताया जा रहा है कि तीसरी सदी की ये मूर्ति दुनिया की सबसे पुरानी बुद्ध की सोती हुई प्रतिमा है। रायटर्स के अनुसार, 1929 में पहली बार खैबर पख्‍तूनख्‍वाह में प्राचीन बौद्ध स्‍थल की खोज हुई थी। इस इलाके में आतंकवादियों का प्रभाव होने के कारण कई दशकों से यहां खुदाई नहीं हुई थी। 

 

  

 

ये भी पढ़े: 2014 के पहले लोग पूछते थे कितना गया, अब पूछते हैं 'मोदी जी कितना आया?', देखें वीडियो
इसके 88 साल बाद खुदाई फिर से शुरू हुई तो 14 मीटर ऊंची कंजूर पत्‍थर से बनी बौद्ध की मूर्ति पाई गई। इस बारे में पाकिस्तान के भामला आर्कियोलॉजी डिपार्टमेंट के अब्दुल समद ने बताया कि, "हमें खुदाई में इस विशाल मूर्ति के अलावा 500 और अवशेष मिले हैं, जो तीसरी सदी के हैं। उन्होंने बताया कि, "सम्राट अशोक के समय यह इलाका बुद्ध सभ्यता का सेंटर हुआ करता था। यही वजह है कि इस इलाके में कई बुद्ध अवशेष और स्तूप मिले हैं। 

ये भी पढ़े: स्कूल में छात्रा का किया गया यौन उत्पीड़न, फिर...


सबसे खास बात तो यह कि पाकिस्तान ने इस मूर्ति का संरक्षण कर धार्मिक सौहार्द की मिसाल पेश की है। खैबर पख्तूनवा में बुद्ध प्रतिमा के अनावरण और उसके सार्वजनिक प्रदर्शन की पहल को पाकिस्तान की राजनीति और सोच में एक अहम बदलाव के तौर पर देखा जा रहा है,  क्योंकि अभी तक पाकिस्तान के तमाम नेता, इतिहासकार, विद्वान और मौलाना आदि इस पर जोर देते रहे हैं कि उनके मुल्क का उस दौर से कोई लेना-देना नहीं जब उनकी धरती पर हिंदू और बौद्ध सभ्यता फली फूली हो।
 
इस बारे में देश के विपक्षी नेता इमरान खान ने कहा कि यह मूर्ति पाकिस्तान में बौद्ध धर्म के तीर्थयात्रियों को आकर्षित करेगी। उन्होंने देश में बुद्ध से संबंधित पुरातात्विक स्थलों को सुरक्षित रखने और बनाए रखने की बात कही। हालांकि, उनके इस कदम का पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) के कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध किया। 

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

sanjeevni app

More From national

Trending Now
Recommended