संजीवनी टुडे

नेपाल में लॉकडाउन के बा्द 58,769 लोग वापस घर लौटे- गृह मंत्रालय

संजीवनी टुडे 26-05-2020 20:22:54

नेपाल के राष्ट्रीय आपातकालीन परिचालन केंद्र के निदेशक शंभू रेग्मी ने अपने बयान में कहा कि कोरोना महामारी के चलते नेपाल में भी 24 मार्च के बाद लॉक डाउन लगा दिया गया था।


नई दिल्ली। नेपाल के राष्ट्रीय आपातकालीन परिचालन केंद्र के निदेशक शंभू रेग्मी ने अपने बयान में कहा कि कोरोना महामारी के चलते नेपाल में भी 24 मार्च के बाद लॉक डाउन लगा दिया गया था। दुनिया भर में अचानक से बढ़ते हुए मामले को देखते हुए अधिकांश देशों ने अपने यहां यात्रा पर पूरी तरह से प्रतिबन्ध लगा दिया था । इस प्रतिबन्ध के चलते बड़ी संख्या में नेपाली प्रवासी श्रमिक, छात्र और रोगी, जो अपने इलाज के लिए दूसरे देश में गए थे, वह वहीँ फसे रह गए थे।  लॉक डाउन में ढील दिए जाने के बाद से अब तक लगभग 58,769 लोग वापस नेपाल आ चुके हैं।

गृह मंत्रालय के तहत आने वाले राष्ट्रीय आपातकालीन परिचालन केंद्र के निदेशक रेग्मी ने कहा कि ज्यादातर वापसी करने वाले प्रवासियों ने दक्षिणी सीमा से देश में प्रवेश किया । उन्होंने कहा, "हमने उन्हें विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा निर्धारित मानदंडों को पूरा करने के बाद ही आने की अनुमति दी और उन्हें नेपाल में प्रवेश करने से पहले 14 दिनों के लिए एकांतवास  (क्वारंटाइन सेंटर) में रहना पड़ा । स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव केदारनाथ शर्मा ने कहा कि लगभग 5,80,000 नेपाली, जो भारत के कई हिस्सों में फंसे हुए हैं, उन्हें घर लाने की प्रक्रिया चल रही है ।

शंभू रेग्मी ने कहा, "नेपाल और भारत दोनों देशों में  कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है और हमारे कई नागरिक, जो काम के लिए भारत गए थे, वे वापस लौटने लगे हैं। क्योंकि वहां कोई काम नहीं है। वे कहते हैं कि वे बीमारी के बजाय वहां भुखमरी से मर जाएंगे ।’’ इससे पहले, संघीय संसद के तहत अंतर्राष्ट्रीय संबंध समिति ने सरकार को उन नेपालियों का विवरण इकट्ठे करने का निर्देश दिया था जो अपने स्वयं के खर्च पर विदेश से लौटना चाहते हैं।

यह खबर भी पढ़े: गुजरात में बंधक बनाए गए 83 मजदूर, विधायक से लगाई मदद की गुहार

यह खबर भी पढ़े: जावड़ेकर ने कांग्रेस पर नकारात्मक राजनीति करने का लगाया आरोप, राहुल ने जो कहा वह झूठ का पुलिंदा

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended