संजीवनी टुडे

भारत की ओर रवाना हुए 22 हजार नेपाली प्रवासी मजदूर

संजीवनी टुडे 28-09-2020 22:35:49

कोरोना वायरस माहामारी के खतरे के बीच पिछले चार हफ्तों में नेपालगंज बॉर्डर पॉइंट के जरिए काम का तलाश में 22000 नेपाली प्रवासी मजदूर भारत की ओर नेपाल से रवाना हुए हैं।


काठमांडू। करोना वायरस माहामारी के खतरे के बीच पिछले चार हफ्तों में नेपालगंज बॉर्डर पॉइंट के जरिए काम का तलाश में 22000 नेपाली प्रवासी मजदूर भारत की ओर नेपाल से रवाना हुए हैं।

नेपालगंज के जमुनाहा इलाके के पुलिस कार्यालय के एसआई बिश्नु गिरी ने बताया कि लॉकडाउन के प्रभाव के कारण मुश्किलों का सामना कर रहे यह मजदूर काम की तलाश में भारत की ओर निकले हैं। उन्होंने बताया कि 15 सितम्बर से नेपालगंज बॉर्डर के माध्यम से 76,048 मजदूर नेपाल लौटे हैं। इसके साथ ही लगभग 40,000 भारतीय लोग भी इसी बॉर्डर पॉइंट के माध्यम से अपने घर लौटे हैं।

गिरी ने बताया कि जिन नेपालियों के पास राशन कार्ड है, वो भारत की ओर रवाना होना शुरू हुए हैं। उन्होंने कहा कि इन लोगों को बॉर्डर के जरिए इन लोगों को इलाज दवाई या फिर मरीजों से मिलने के लिए देश में प्रवेश या निकास की अनुमति है। गिरी कहते हैं कि नेपाल-भारत की सीमा से लोगों के रिकंमेंडेशम कार्ड और पहचान पत्र के जरिए आवाजाही की अनुमति है।

भारतीय सुरक्षाकर्मियों ने नेपालगंज बॉर्डर पॉइंट पर नेपालियों के प्रवेश पर सख्ती कर दी है। कई लोगों ने बिना पहचान पत्र के कैलिली-त्रिनगर बॉर्डर पॉइंट के जरिए भारत जाना शुरू कर दिया है। नेपाल के डंग, बांके, बरडिया, जाजरकोट, सुरखेत, दाइलेक, जुमला, सालयान, डुकुम और कलीकोट से नेपाली लोग भारत की ओर जा रहे हैं।

यह खबर भी पढ़े: बीकानेर स्टेशन पर लगा अत्याधुनिक तकनीक का कोविड सर्विलांस कैमरा, स्वत: ही...

यह खबर भी पढ़े: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा- अब रक्षा उद्योग में 'आत्मनिर्भर' बनेगा भारत

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended