संजीवनी टुडे

एचआईवी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को कम कर देता है: गहरवार

संजीवनी टुडे 01-12-2020 20:08:39

एचआईवी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को कम कर देता है


ग्वालियर। एचआईवी वायरस मनुष्य के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता या बीमारियों से बचाने वाली ताकत को कम कर देता है। एआरटी का मतलब है एचआईवी वायरस संक्रमण को दवाई द्वारा नियंत्रण करना है। हालांकि यह दवा वायरस को पूर्ण रूप से खत्म नहीं करती है पर वायरस के बढऩे की गति को काफी हद तक धीमा कर देती है। इस स्थिति में व्यक्ति लंबे समय तक स्वस्थ जीवन जी सकता है। 

यह बात मंगलवार को मध्य भारत शिक्षा समिति द्वारा संचालित माधव विधि महाविद्यालय की रासेयों इकाई द्वारा एड्स दिवस पर एड्स जागरूकता विषय पर आयोजित राष्ट्रीय कार्यशाला में एआरटी सेंटर के नोडल अधिकारी डॉ राकेश सिंह गहरवार ने मुख्य वक्ता के रूप में कही। ऑनलाइन राष्ट्रीय कार्यशाला में 100 से ज्यादा लोग लाभान्वित हुए। इस मौके पर अतिथि भाषण अभिभाषक प्रवीण नेवासकर व अध्यक्षता अभिभाषक विवेक खेड़कर ने की। कार्यक्रम  संयोजक व एनएसएस कार्यक्रम अधिकारी डॉ नीति पांडेय मुख्य रूप से उपस्थित रही।  

गहरवार ने बताया कि एआरटी केंद्र 1 अप्रैल 2010 से निशुल्क जांच एवं निशुल्क दवाओं का वितरण कर रहा है।  जो लोग एचआईवी से संक्रमित हो चुके हैं उनके साथ प्यार और सम्मान का व्यवहार करें। 

यह खबर भी पढ़े: रेलगाड़ियों के संचालन पर भी कोरोना का बुरा प्रभाव, 50 प्रतिशत गाड़ियां ही पटरी पर दौड़ रहीं

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From madhya-pradesh

Trending Now
Recommended