संजीवनी टुडे

अमानक बीज से किसानों को करोड़ों के नुकसान का अनुमान

संजीवनी टुडे 12-08-2020 22:20:05

बीज उत्पादक सहकारी समितियों द्वारा कृषि विभाग एवं सहकारी समितियों के माध्यम से सप्लाई किए गए सोयाबीन, उड़द, अरहर बीज के


बैतूल। बीज उत्पादक सहकारी समितियों द्वारा कृषि विभाग एवं सहकारी समितियों के माध्यम से सप्लाई किए गए सोयाबीन, उड़द, अरहर बीज के दो दर्जन लाटों का बीज अमानक पाये जाये से बीज उत्पादक सहकारी समितियों के कर्ताधर्ताओं सहित बीज प्रमाणीकरण संस्था एवं कृषि विभाग के अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है। बीज परीक्षण प्रयोगशाला जबलपुर की रिपोर्ट में बैतूल जिले सप्लाई किया गया 712 क्विंटल बीज अमानक स्तर का पाये जाने से जिले के किसानों को करोड़ों रुपये के नुकसान का अनुमान है। 

अमानक बीज सप्लाई कर जिले के किसानों के साथ धोखाधड़ी करने वाली बीज उत्पादक सहकारी समितियों के संचालकों एवं उन्हें संरक्षण देने वाले अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करवाकर किसानों को न्याय दिलवाने के लिए जिले के जनप्रतिनिधि सहित संगठन पदाधिकारी लामबंद नजर आ रहे हैं। अमानक बीज मामले में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करवाने के लिए सांसद डीडी उईके मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से शीघ्र मुलाकात करने वाले हैं। 

इधर सैकड़ों क्विंटल प्रमाणित बीज के अमानक पाये जाने का मामला उजागर होने के बाद आमला विधायक डॉ. योगेश पंडाग्रे ने कृषि मंत्री कमल पटेल से दोषियों पर कार्यवाही करवाने एवं प्रभावित किसानों को राहत दिलवाने के लिए मोबाईल पर विस्तृत बातचीत की गई। इधर पूर्व सांसद पूर्व विधायक एवं भाजपा प्रदेश कोषाध्यक्ष हेमंत खंडेलवाल प्रमाणित बीज उत्पादन की प्रक्रिया की टॉप टू बॉटम जांच विशेषज्ञों की टीम से करवाने का दावा कर रहे हैं। जनप्रतिनिधियों का साफ कहना है कि अमानक बीज के मामले में बीज सप्लाई करने वाली बीज उत्पादक सहकारी समितियों सहित बीज प्रमाणीकरण के लिए जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाने जायेगी। अमानक बीज के मामले में हिन्दुस्थान समाचार ने जिले के जनप्रतिनिधियों एवं संगठन पदाधिकारियों से बातचीत की गई। 

अमानक बीज सप्लाई करना अक्षम्य अपराध- डीडी उईके 

बैतूल-हरदा-हरसूद संसदीय क्षेत्र के सांसद दुर्गादास उईके का कहना था कि किसानों के साथ धोखाधड़ी कर उन्हें नकली बीज सप्लाई करने वाली बीज उत्पादक सहकारी समितियों के संचालकों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी। साथ ही बीज प्रमाणीकरण अधिकारियों की भूमिका की जांच करवाकर उनकी संलिप्तता पाये जाने पर दोषी अधिकारियों को भी नहीं बख्शा जायेगा। 

दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवायेंगे- डॉ. पंडाग्रे

बैतूल जिले में किसानों को वितरित किये जा चुके 700 क्विंटल प्रमाणित बीज के अमानक पाये जाने पर आमला विधायक डॉ. योगेश पंडाग्रे ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि किसानों के साथ धोखाधड़ी का यह अत्यंत गंभीर मामला है। उनका मानना था कि बीज उत्पादक सहकारी समितियों द्वारा बड़े पैमाने पर सप्लाई किये गये अमानक बीज से किसानों को करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ है। इसलिए किसानों के साथ धोखाधड़ी करने वालों को बख्शा नहीं जायेगा। विधायक डॉ. पंडाग्रे ने कहा कि अमानक बीज के बारे में कृषि विभाग से रिपोर्ट लेकर अमानक बीज सप्लाई करने वाली बीज उत्पादक सहकारी समितियों के संचालकों के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज करवाया जायेगा। साथ ही बीज प्रमाणीकरण अधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर दोषी अधिकारियों के खिलाफ भी सख्त कार्यवाही की जायेगी। 

बीज उत्पादन प्रक्रिया की टॉप टू बॉटम जांच हो- हेमंत खंडेलवाल 

प्रमाणित बीज के अमानक पाये जाने को बड़ा फर्जीवाड़ा करार देते हुए पूर्व सांसद विधायक एवं प्रदेश भाजपा कोषाध्यक्ष हेमंत खंडेलवाल ने कहा कि प्रमाणित बीज उत्पादन की प्रक्रिया की टॉप टू बॉटम जांच विशेषज्ञों की टीम से करवाने की मांग उन्होंने कृषि मंत्री कमल पटेल सहित बैतूल कलेक्टर से की थी। उनका कहना था कि किन-किन किसानों को फाउंडर एवं ब्रीडर बीज दिया जा रहा है। किसानों द्वारा कितने क्षेत्र में तथा कितना प्रमाणित बीज उत्पादित किया जा रहा। इसकी विस्तृत जांच में बीज उत्पादक सहकारी समितियों द्वारा सप्लाई किये जा रहे प्रमाणित बीज के सोर्स का खुलासा हो जायेगा। खंडेलवाल का कहना था कि अमानक बीज मामले में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही होना चाहिए। 

महाराष्ट्र की तर्ज पर हो एफआईआर- डॉ. सुनीलम्

प्रमाणित बीज के अमानक पाये जाने को किसानों के साथ फ्राड करना बताते हुए किसान संघर्ष समिति के कार्यकारी अध्यक्ष, पूर्व विधायक एवं देश के 250 किसान संगठनों के समूह के प्रवक्ता डॉ. सुनीलम् ने कहा कि अमानक बीज मामले में दोषियों के खिलाफ महाराष्ट्र राज्य की दर्ज पर एफआईआर दर्ज कराकर उनकी गिरफ्तारी होनी चाहिए। साथ ही अमानक बीज सप्लाई करने वाली संस्था/ फर्म को तत्काल ब्लेक लिस्टेड करना चाहिए। डॉ. सुनीलम् के मुताबिक महाराष्ट्र में मप्र की 23 कंपनियों का बीज अमानक पाये जाने पर हाईकोर्ट ने संज्ञान लेकर एफआईआर दर्ज करवाई है। बैतूल जिले सहित समूचे मप्र में भी अमानक बीज सप्लाई मामलों में महाराष्ट्र की तर्ज पर कार्यवाही होनी चाहिए। 

किसानों के हित में संघर्ष करेंगे- गुड्डू शर्मा 

प्रमाणित बीज के अमानक पाये जाने को किसानों के साथ फ्राड करना बताते हुए किसान संघर्ष समिति के कार्यकारी अध्यक्ष, पूर्व विधायक एवं देश के 250 किसान संगठनों के समूह के प्रवक्ता डॉ. सुनीलम् ने कहा कि अमानक बीज मामले में दोषियों के खिलाफ महाराष्ट्र राज्य की दर्ज पर एफआईआर दर्ज कराकर उनकी गिरफ्तारी होनी चाहिए। साथ ही अमानक बीज सप्लाई करने वाली संस्था/ फर्म को तत्काल ब्लेक लिस्टेड करना चाहिए। डॉ. सुनीलम् के मुताबिक महाराष्ट्र में मप्र की 23 कंपनियों का बीज अमानक पाये जाने पर हाईकोर्ट ने संज्ञान लेकर एफआईआर दर्ज करवाई है। बैतूल जिले सहित समूचे मप्र में भी अमानक बीज सप्लाई मामलों में महाराष्ट्र की तर्ज पर कार्यवाही होनी चाहिए। 

किसानों के हित में संघर्ष करेंगे- गुड्डू शर्मा 

प्रमाणित बीज के अमानक पाये जाने को किसानों के साथ धोखा बताते हुए जिला कांग्रेस अध्यक्ष बैतूल सुनील गुड्डू शर्मा ने कहा कि कांग्रेस हमेशा से ही किसानों की चिंता कर उनके हित में काम करती रही है। उन्होंने कहा कि अमानक बीज मामलों में कांग्रेस जिले के किसानों के हित और अधिकार के लिए संघर्ष करेगी। 

किसानों के साथ अन्याय हुआ है- अरूण गोठी 

जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक बैतूल के पूर्व प्रशासक अरूण गोठी ने कहा कि प्रमाणित बीज के नाम पर किसानों को अमानक बीज सप्लाई कर उनके साथ अन्य किया गया है।  बीज का अंकुरण नहीं होने की शिकायतें मिलने पर उन्होंने किसानों के साथ कलेक्टर को ज्ञापन देकर जांच करवाने की मांग की थी। अमानक बीज सप्लाई करने वालों के खिलाफ कार्यवाही एवं प्रभावित किसानों को मुआवजा देने की मांग को लेकर किसान कांग्रेस के साथ किसानों के हक की लड़ाई लड़ेंगे। 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From madhya-pradesh

Trending Now
Recommended