संजीवनी टुडे

पश्चिम बंगाल : अंतिम चरण के मतदान में भी कांग्रेस ने जताई हिंसा की आशंका

संजीवनी टुडे 16-05-2019 22:09:34


कोलकाता। कांग्रेस की पश्चिम बंगाल प्रदेश इकाई ने 19 मई को प्रदेश की नौ संसदीय सीटों पर होने वाले अंतिम चरण के मतदान के दौरान भी हिंसा होने की आशंका जतायी है। प्रदेश अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने गुरुवार को प्रदेश मुख्यालय में मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि आदर्श चुनाव आचार संहिता के नियमानुसार चुनाव से पहले सभी वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी होनी चाहिए, लेकिन कोलकाता और आसपास के क्षेत्रों में अभी भी पुलिस ने अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं की है। उन्हें तृणमूल कांग्रेस का संरक्षण प्राप्त है। अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं होने को लेकर भी चुनाव आयोग जिम्मेदार है। मित्रा के साथ कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य प्रदीप भट्टाचार्य भी मौजूद थे।  

राज्य के गृह सचिव अत्री भट्टाचार्य को चुनाव आयोग द्वारा हटाए जाने का सोमेन मित्रा ने स्वागत किया। उन्होंने कहा कि निर्धारित अवधि से एक दिन पहले ही चुनाव प्रचार पर रोक लगाना अन्याय पूर्ण फैसला है। इससे राजनीतिक पार्टियों के लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन हुआ है। राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी आरिज आफताब ने उन्हें बताया है कि हिंसा की आशंका में भारत-बांग्लादेश सीमा को सील किया गया है लेकिन सीमा पर मौजूद पार्टी के सूत्रों के अनुसार चुनाव आयोग के इस दावे में कहीं कोई सच्चाई नहीं है। उन्होंने मीडिया कर्मियों का आह्वान करते हुए कहा कि कोई भी मीडियाकर्मी सीमा पर जाकर देख सकता है। जहां से भी सीमा खुली थी वहा खुली ही है, सील नहीं किया गया है। उन्होंने चुनाव अधिकारी पर झूठ बोलने का आरोप लगाया है। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल 

मित्रा ने कहा कि राजधानी और आसपास के कितने होटलों से कितने अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है, इसकी सूची जारी की जानी चाहिए।उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बनर्जी प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ तमाम तरह के अपशब्दों का इस्तेमाल कर रही हैं। मित्रा ने हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत में कहा कि मुख्यमंत्री को मर्यादा का कोई ज्ञान नहीं है। क्या बोलना चाहिए, क्या नहीं, इस बारे में वह बिल्कुल अनभिज्ञ रहती हैं। किसी संवैधानिक पद पर बैठा हुआ शख्स चिरकाल के लिए वहां नहीं रहेगा। ऐसे में उसके खिलाफ कुत्सित शब्दों का इस्तेमाल करना बंगाल की संस्कृति पर कुठाराघात है। गत 12 मई को संपन्न छठे चरण के मतदान के दौरान पश्चिम मेदिनीपुर के घाटाल संसदीय क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार भारती घोष पर किए गए तृणमूल कार्यकर्ताओं के हमले का जिक्र करते हुए मित्रा ने कहा कि भारती घोष मेरी पार्टी की नहीं हैं, फिर भी एक उम्मीदवार के तौर पर उनके साथ जिस तरह का बर्ताव पुलिस के सामने बेलगाम तरीके से तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने किया, यह लोकतंत्र के लिए शुभ लक्षण नहीं हैं। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

 

More From loksabhaelection

Trending Now
Recommended