संजीवनी टुडे

अमित शाह के रोड शो में तृणमूल कार्यकर्ताओं ने शुरू की थी हिंसा : पुलिस

संजीवनी टुडे 16-05-2019 14:33:20


कोलकाता। महानगर कोलकाता में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के कोलकाता के रोड शो में हुए हमले को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दावा किया है कि भाजपा के लोगों ने इसकी शुरुआत की थी। हालांकि कोलकाता पुलिस ने ईमानदारी से स्वीकार किया है कि भाजपा अध्यक्ष के रोड शो में हिंसा की शुरुआत तृणमूल कांग्रेस की ओर से हुई थी।

लालबाजार स्थित कोलकाता पुलिस मुख्यालय की ओर से गुरुवार को जारी आधिकारिक बयान में यह स्वीकारा गया है कि जब अमित शाह का रोड शो गुजर रहा था तब तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने रोड शो के सामने आकर नारेबाजी और विरोध प्रदर्शन करने की शुरुआत की थी। उस समय पुलिस ने परिस्थिति को संभाल लिया था लेकिन एक बार फिर अमित शाह की गाड़ी गुजर जाने के बाद उनके काफिले में शामिल लोगों पर विद्यासागर कॉलेज के अंदर से ईट पत्थर फेंके गए जिसके बाद हिंसा की शुरुआत हो गई थी।

पुलिस ने जो आधिकारिक बयान जारी किया है उसने कहा गया है कि मंगलवार लगभग 16.35 बजे भाजपा उत्तर कोलकाता जिला समिति ने विधान सरणी से होकर विवेकानंद हाउस तक के लिए धर्मतल्ला क्रॉसिंग से रोड शो के बाद एक चुनाव प्रचार रैली का आयोजन किया, जिसमें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित भाई शाह और कुछ अन्य नेता भाग ले रहे थे। 

जब जुलूस कॉलेज स्ट्रीट पर कोलकाता विश्वविद्यालय के गेट के पास पहुंचा, तो कुछ टीएमसी समर्थक यूनिवर्सिटी कैंपस से बाहर आए और भाजपा नेताओं के खिलाफ नारेबाजी के साथ काला झंडा दिखाने की कोशिश की, भाजपा समर्थक भी उग्र हो गए और पानी की बोतलों से निशाना बनाना शुरू कर दिया। हालांकि पुलिस ने दोनों पक्षों को बैरिकेड्स से अलग करके रोक दिया और जुलूस को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया। अभी तक किसी के घायल होने की सूचना नहीं थी।

जब जुलूस विद्यासागर कॉलेज (न्यू कैंपस) के पास से गुजर रहा था, तब 17 विधान सरणी (अहमर्स्ट स्ट्रीट थाना क्षेत्र के तहत) लगभग 18.45 बजे, तब कॉलेज के अंदर से जुलूस पर कुछ पत्थर फेंके जाने के कारण एक बार फिर से बवाल मच गया और जवाबी कार्रवाई में जुलूस के एक हिस्से ने टीएमसी समर्थकों का पीछा किया और अगली कड़ी में दो मोटर साईकिल और एक बाई-साइकिल को आग लगा दी गई। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

जल्द ही पुलिस उपायुक्त के नेतृत्व में बड़ी संख्या में पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और हिंसा में शामिल 16 लोगों को गिरफ्तार किया गया। कथित तौर पर विद्यासागर की एक मूर्ति जिसे कॉलेज के परिसर में एक कांच के शोकेस में रखा गया था, क्षतिग्रस्त कर दिया गया था। अंत में जुलूस 19.00 बजे के आसपास समाप्त हुआ। आगे किसी अप्रिय घटना से बचने के लिए पूरे इलाके में कड़ी निगरानी रखी जा रही है। विवरण की जांच जारी है।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From loksabhaelection

Trending Now
Recommended