संजीवनी टुडे

मैं प्रधानमंत्री पद का दावेदार नहीं- मुलायम सिंह यादव

संजीवनी टुडे 01-04-2019 17:04:28


मैनपुरी। समाजवादी पार्टी (सपा) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने सोमवार को मैनपुरी से अपना नामांकन किया। श्री यादव ने चार सेट में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया।नामांकन दाखिल करने के बाद पत्रकारों से समाजवादी पार्टी के सरंक्षक मुलायम सिंह यादव ने कहा कि मैंने अपना नामांकन दाखिल कर दिया है। वह प्रधानमंत्री पद के दावेदार नहीं हैं। अब तो देश के प्रधानमंत्री का फैसला लोकसभा चुनाव के बाद ही होगा। मैं तो एक बार फिर मैनपुरी से मैदान में हूं। 

सुरक्षाकर्मियों और पुलिस में नोंकझोंक
सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव यहां पर समाजवादी पार्टी के रथ में अपना नामांकन कराने कलेक्ट्रेट पहुंचे थे। यहां पर मुलायम सिंह यादव के साथ चल रहे सुरक्षाकर्मियों की पुलिस से झड़प हो गई। पुलिस ने इसके बाद एनएसजी कमांडो को तो जाने दिया, लेकिन मुलायम के साथ पानी व दवा लेकर जा रहे सुरक्षाकर्मियों को रोक दिया। मुलायम के साथ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव भी थे। यहां पर मुलायम के प्रस्तावकों में बसपा जिला अध्यक्ष शुभम सिंह भी शामिल थे।

हाथ हिलाकर अविवादन करते नजर आए मुलायम
मुलायम सिंह यादव अपने परिवार के सदस्यों के साथ इटावा से पार्टी के रथ में सवार होकर मैनपुरी के लिए निकले। बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं के जोशीले नारों के बीच मुलायम सिंह यादव पुत्र पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, भतीजे सांसद धर्मेंद्र यादव, सांसद तेजप्रताप सिंह यादव, अनुराग यादव, पूर्व पर्यटन मंत्री ओम प्रकाश सिंह, नाती अर्जुन व नातिन टीना के साथ इटावा से रवाना हुए। इस दौरान मुलायम सिंह यादव ने रथ के अंदर से कार्यकर्ताओं का हाथ हिलाकर अभिवादन किया। 
मुलायम से मिलने पहुँचे शिवपाल

इससे पहले सुबह 10.30 बजे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव उन्हें लेने के लिए समाजवादी पार्टी के रथ में सैफई से सवार होकर इटावा में उनके आवास सिविल लाइन पहुंचे। करीब आधा घंटे बाद वह मुलायम सिंह यादव को साथ लेकर निकल गये। इससे पहले सोमवार सुबह प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने अग्रज मुलायम सिंह यादव से उनके आवास पर जाकर मुलाकात की थी और इनके बीच आधा घंटे तक उनके साथ चर्चा की। मुलायम सिंह के स्वागत के लिए शहर में जगह-जगह कार्यकर्ता खड़े हुए थे। काफी दिनों बाद दोनों नेताओं के एक साथ शहर में आने को लेकर कार्यकर्ताओं में खासा जोश था।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

मंच पर नहीं पहुंचने पर कार्यकर्ताओं में छायी मायूसी
सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव नामांकन के बाद सभा को संबोधित करने वाले थे, जब वे मंच पर नहीं पहुंचे तो समर्थकों में मायूसी छा गई।
सपा समर्थकों ने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव तथा प्रोफेसर रामगोपाल यादव के मंच पर पहुंचते ही मुलायम सिंह यादव को बुलाने की मांग करने लगे। सपा मुखिया अखिलेश यादव, प्रो. रामगोपाल, तेज प्रताप व धर्मेंद्र यादव ने मंच से बताया कि नेताजी अपना नामांकन कर इटावा वापस लौट गए हैं। 
यह चुनाव भाजपा को सफाया करने वाला-अखिलेश यादव
जनसभा को सम्बोधित करते हुए सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सबसे पहले मैनपुरी के एक-एक नेता तथा कार्यकर्ताओं का धन्यवाद दिया। उसके बाद गठबंधन के सभी दलों से भाजपा को सफाया करने का आह्वान किया। कहा कि यह चुनाव भाजपा को सफाया करने वाला है। अब तो होली के बाद यह नया रंग है। हरे लाल के साथ नीला रंग भी है। यहां सपा हमेशा मजबूत रही है। इस बार भी हमें पूरी ताकत दिखानी है। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

अखिलेश यादव ने कहा कि यहां के लोगों का जोश देखकर खुशी हो रही है। लोकतंत्र में बहुत बड़ी जीत हो चुकी है, लेकिन इस बार पूरी दुनिया देखेगी, यहाँ कितनी बड़ी जीत हुई।
श्री यादव ने कहा ​कि भाजपा ने देश को बर्बाद कर दिया। इतना कोई झूठ नहीं बोलता, जितना भाजपा बोलती है। कोई वादा पूरा नहीं किया। रोजगार नहीं दिए, कारोबार और ठप कर दिए। अकाउंट खुलवा लिए, लेकिन 15 लाख नहीं आए। किसान को कुछ नहीं मिला। किसान की बोरी की चोरी भाजपा ने कर ली। किसानों का एक किलो आलू तक नहीं खरीदा। उन्होंने कहा कि अभी तो कार्यकर्ताओं की रैली हुई है। अभी तो 19 को यहां पर सपा-बसपा की रैली होनी है। तब विचारों का संगम होगा। भीड़ देखकर विरोधियों को हमारी ताकत पता चल जाएगी। 
रामगोपाल यादव ने इस मंच से सपा सरंक्षक मुलायम को 85 फीसद वोट दिलाने की अपील की। उन्होंने कहा कि इस बार दिल्ली के बाद उत्तर प्रदेश में भी गठबंधन की सरकार आएगी।

More From loksabhaelection

Trending Now
Recommended