संजीवनी टुडे

उप्र में 77 मतगणना केन्द्रों पर 80 लोकसभा सीटों की मतगणना शुरू

संजीवनी टुडे 23-05-2019 08:20:18


लखनऊ। प्रदेश के सभी 80 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों के लिए 75 जनपदों में आज प्रातः आठ बजे से मतगणना शुरू हो गई। इसके साथ ही 89-आगरा उत्तर तथा 138-निघासन विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के उपचुनाव की मतगणना भी करायी जा रही है।

प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल. वेंकटेश्वर लू के मुताबिक राज्य में कुल 77 मतगणना केन्द्र बनाये गये हैं। मतगणना निष्पक्ष और पारदर्शी ढंग से सम्पन्न करायी जा रही है। प्रत्येक चक्र के बाद आंकड़े विधानसभावार बताये जायेंगे। मुख्य निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक रुझान दोपहर दो बजे से आने की उम्मीद है। देर शाम से परिणामों की अधिकृत घोषणा होना शुरू हो जाएगी। 2014 के लोकसभा चुनाव में प्रदेश में भाजपा को 71, कांग्रेस को 02, समाजवादी पार्टी को 05 और अपना दल को 02 सीट मिली थीं। 

आजमगढ़ और कुशीनगर में दो केन्द्रों पर हो रही मतगणना
जनपद आजमगढ़ तथा कुशीनगर में मतगणना दो केन्द्रों पर हो रही है, जबकि अन्य जनपदों में मतगणना एक केन्द्र पर हो रही है। प्रदेश में कुल 1,63,484 मतदेय स्थलों (1,63,332 मूल तथा 152 सहायक) पर मतदान हुआ है। मतगणना के लिए किसी जनपद में आने वाली सभी विधानसभा क्षेत्रों की गणना उसी जनपद में स्थित मतगणना केन्द्र पर सम्पादित करायी जा रही है। प्रत्येक विधानसभा खण्ड में ईवीएम मशीनों की मतगणना के लिए सामान्यतया 14 मतगणना टेबल तथा एक एआरओ टेबल लगायी गई है।

कुल 979 उम्मीदवारों की किस्मत का आज होगा फैसला
लोकसभा चुनाव के इस महासमर में कुल 979 उम्मीदवार हैं, जिनकी किस्मत का फैसला आज होगा। मतगणना के लिए स्ट्रांग रूम को सभी उम्मीदवारों या उनके अभिकर्ता तथा भारत निर्वाचन आयोग द्वारा नामित प्रेक्षक की उपस्थिति में खोला गया। इसके बाद मतगणना के लिए मशीनें मतगणना स्थल पर लायी गईं। ईवीएम में रिजल्ट देखने से पहले उस पर लगायी गयी सील के बरकरार होने तथा उनके नम्बरों का मिलान किया गया। 

आयोग ने 149 प्रेक्षकों की तैनाती
मतगणना प्रक्रिया पर नजर रखने हेतु आयोग द्वारा 149 प्रेक्षक तैनात किये गये हैं। जो संसदीय क्षेत्र एक से अधिक जनपदों में अवस्थित हैं, वहां पर एक से अधिक प्रेक्षक तैनात किये गये हैं। इसके अतिरिक्त पूरी मतगणना प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी करायी जा रही है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि ईवीएम और वीवीपैट का मिलान करने के लिए पांच-पांच मतदान केंद्रों का चयन पर्ची के जरिये किया जाएगा। पोस्टल बैलेट की मतगणना दो अलग-अलग श्रेणी में की जाएगी। सर्विस वोटर्स और मतदान कर्मी व चुनाव के सुरक्षाकर्मी के पोस्टल बैलेट की मतगणना अलग-अलग की जाएगी। पोस्टल बैलेट के मतों को अंत मे मतगणना में जोड़ा जाएगा। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

सुरक्षा के दृष्टिकोण से मतगणना हॉल के चारों ओर तीन परिधियां बनायी गई हैं। सुरक्षा की व्यवस्था तीनों परिधियों में सुनिश्चित की गई है। सुरक्षा व्यवस्था के लिए पर्याप्त संख्या में केन्द्रीय रिजर्व बल एवं स्थानीय बलों की तैनाती है।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From loksabhaelection

Trending Now
Recommended