संजीवनी टुडे

कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा का ठहरा पहिया, टिकट वितरण पर नेता का फोकस

संजीवनी टुडे 05-04-2019 19:27:41


चंडीगढ़। लोकसभा चुनाव में हरियाणा के रण को जीतने के लिए कमर कस चुके राजनीतिक दल अपनी-अपनी योजना के हिसाब से मैदान में उतर चुके हैं। एक ओर प्रत्याशी चयन के लिए चल रही प्रक्रिया पर हर कोई टकटकी लगाए बैठा है, वहीं राजनीतिक दलों ने समानांतर चुनावी प्रचार-प्रसार तेज कर दिया है। वर्तमान स्थिति में प्रदेश में सत्तारूढ भाजपा अपने प्रचार की रफ्तार बढा रही है, वहीं कांग्रेस, इनेलो और जजपा अपनी रणनीति के मुताबिक संगठन को मजबूत करने की कवायद में जुट गए हैं।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

जींद उपचुनाव के बाद से ही राजनीतिक दलों ने आम चुनाव की तैयारियों को लेकर मंथन शुरू कर दिया था। उपचुनाव जीतने से उत्साहित भाजपा ने तो फरवरी से ही सिलसिलेवार तरीके से कार्यक्रमों की श्रृंखला का आगाज कर दिया था, वहीं दूसरी ओर कांग्रेस में अलग-अलग गुट अपनी पैठ साबित करने के लिए जनसभाएं करने लगे। पारिवारिक गुटबाजी के बाद बदलाव के दौर से गुजर रही इनेलो के वर्तमान विधायक और पूर्व विधायकों का दल बदलने से जहां जमीनी आधार खोने का खतरा मंडराने लगा, वहीं अभय सिंह चौटाला को नेता प्रतिपक्ष, विधानसभा के पद से भी बेदखल होना पडा। जजपा निवर्तमान सांसद दुष्यंत चौटाला और विधायक नैना चौटाला के सहारे अपनी जमीन मजबूत करने की कोशिश में है।

भाजपा ने फरवरी में जहां मेरा परिवार भाजपा परिवार, लाभार्थी संपर्क अभियान, मन की बात, बुद्धिजीवी सम्मेलन, कमल ज्योति अभियान, शक्ति केंद्र सम्मेलन, युवा संसद सम्मेलन, प्रधानमंत्री का वीडियो कांफ्रेस के माध्यम से संवाद और विधानसभा अनुसार मोटरसाइकिल रैलियों के बहाने अपनी पैठ मजबूत करने की कोशिश की। इसके बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल के गांवों में विजय संकल्प रैली तथा शहरी क्षेत्र में रोड शो के बहाने लोगों से संवाद स्थापित करने का सिलसिला जारी है। वर्तमान में भी भाजपा संगठनात्मक स्तर पर मजबूती हासिल करने के लिए बूथ समितियां बनाने के बाद अब विधानसभा स्तर पर पन्ना प्रमुख सम्मेलन करने का खाका तैयार कर चुके हैं। 

लोकसभा चुनाव में भाजपा से सीधा मुकाबला करने को तैयार कांग्रेस की अंदरूनी कशमकश का दौर जारी है। पांच दिन की कांग्रेस की परिवर्तन बस यात्रा का पहिया अब थम चुका है। कांग्रेसी नेता जहां टिकट के लिए पूरी जोर आजमाइश कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर एक-दूसरे पर खुद को इक्कीस साबित करने की कोशिश में भी जुटे हैं। अलग-अलग स्थानों पर अपने समर्थकों के बीच पहुंच रहे पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा, प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर, किरण चौधरी, कैप्टन अजय यादव, रणदीप सुरजेवाला अपने संपर्कों को मजबूत कर रहे हैं। नेता प्रतिपक्ष का पद गंवाने के बाद अभय सिंह चौटाला ने पार्टी के संगठन को मजबूत करने पर ध्यान दे रखा है, टिकट की घोषणा 14-15 अप्रैल तक जारी करने की बात कह चुकी इनेलो अपने प्रभाव वाले क्षेत्र में पुन: ध्यान लगा रही है। इसी प्रकार जननायक जनता पार्टी ने निवर्तमान सांसद दुष्यंत चौटाला की सभाओं और डबवाली विधायक नैना चौटाला की हरी चुनरी चौपाल के माध्यम से अपना संपर्क बढ़ाया है। फिलहाल इनेलो और जजपा अपने संगठन को मजबूत करने में लगे हैं।

MUST WATCH & SUBSCRIBE


मुख्यमंत्री मनोहर लाल के ग्रामीण-शहरी क्षेत्र में कनेक्ट टू पीपल कैंपेन के तहत संवाद तेज हो चुका है। वहीं 6 अप्रैल को भाजपा अपने स्थापना दिवस पर बूथ स्तर पर विक्रमी सम्वत 2076 नवर्ष अभिनंदन ध्वज वंदन कार्यक्रम, 13 अप्रैल को जलियावाला बाग शताब्दी वर्ष, 14 अप्रैल को बाबा साहब अम्बेडकर जयंती पर कार्यक्रम करेगी, वहीं विधानसभा स्तर पर पन्ना प्रमुख सम्मेलन की रणनीति भी तैयार की जा चुकी है। 

More From loksabhaelection

Trending Now
Recommended