संजीवनी टुडे

योग कर्मकांड नहीं, विज्ञान हैः बालकृष्ण

संजीवनी टुडे 15-03-2019 18:57:07


हरिद्वार। पतंजलि विश्वविद्यालय के कुलपति आचार्य बालकृष्ण ने कहा है कि योग कर्मकांड नहीं, वह संपूर्ण विज्ञान है। आज योग रोजगार सृजन का बड़ा माध्यम है।स्वामी रामदेव के प्रयास से सारी दुनिया को योग को आत्मसात कर रही है। योग की उत्पत्ति हमारे ऋषियों के तप, पुरुषार्थ व अनुसंधान से ही हुई है। योग की कोई सीमा नहीं, वह असीम है। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

उन्होंने यह विचार पतंजलि विश्वविद्यालय और योग, षट्कर्म चिकित्सा एवं अनुसंधान केन्द्र, पतंजलि आयुर्वेद हॉस्पिटल के संयुक्त तत्वावधान में मेटाबोलिक सिंड्रोम पर योग चिकित्सा का प्रभाव विषय पर आयोजित तीन दिवसीय कार्यशाला के पहले दिन शुक्रवार को व्यक्त किए। कार्यशाला में मोटापा, मधुमेह, उच्च रक्तचाप और कॉलेस्ट्राल पर विस्तृत चर्चा की गई।बालकृष्ण ने दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यशाला का शुभारंभ किया। 

मुख्य अतिथि प्रो. ईश्वर भारद्वाज ने कहा, पतंजलि एकमात्र संस्था है जो पतंजलि अनुसंधान संस्थान के माध्यम से आयुर्वेद में क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल कर रही है। पतंजलि विवि के प्रति कुलपति डॉ. महावीर अग्रवाल ने कहा कि कार्यशाला का उद्देश्य चिकित्सा विज्ञान के रहस्य को सभी छात्र-छात्राओं से अवगत कराना है। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

डॉ. प्रकाश मालसे ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से योग पर व्यापक प्रस्तुति दी। इस अवसर पर मुख्य महाप्रबंधक ललित मोहन, पतंजलि आयुर्वेद कॉलेज के प्राचार्य डॉ. डीएन शर्मा, डॉ. वीके कटियार, डॉ. विनोद बंसल, पतंजलि आयुर्वेद हॉस्पिटल के उपाध्यक्ष डॉ. दयाशंकर, षट्कर्म चिकित्सा एवं अनुसंधान केन्द्र के विभागाध्यक्ष डॉ. सचिन त्यागी आदि उपस्थित रहे।

More From lifestyle

Loading...
Trending Now
Recommended